वर्ण के कितने भेद होते हैं?|Varn Ke Kitane Bhed hote hain?

4.4
(7)

क्या आप जानना चाहते हैं कि वर्ण के कितने भेद होते है or Varn Ke Kitane Bhed hote hain, वर्णों के कितने भेद होते हैं, वर्ण किसे कहते हैं? वर्ण किसे कहते हैं? हिंदी वर्णमाला क्या होती है? तो हमारा यह article अंत तक जरूर पढ़ें।

दोस्तों हमने बहुत जगह यह सवाल देखा है कि वर्ण के कितने भेद होते हैं नाम? और बहुत सी जगहों पर इसका जवाब हमें गलत मिला है, इसलिए हमने आपके लिए article लिखा है जिसमें हम आपको यह बताएंगे कि वर्ण के कितने भेद होते हैं और इसके बारे में पूरी जानकारी भी देंगे। 

तो चलिए शुरू करते हैं।

हिंदी भाषा में hindi grammar की बहुत ही important जगह है। क्योंकि hindi grammar ही हिंदी भाषा को सही रूप में लिखने और बोलने में मदद करती है। Hindi grammar में हिंदी भाषा को लिखने और बोलने के बहुत सारे नियम है। इस article में हम आपको hindi grammar के बहुत ही important topic वर्ण के बारे में जानकारी देंगे और यह बताएंगे कि वर्ण के कितने भेद होते हैं, और भी बहुत कुछ वह भी बहुत ही ज्यादा detail में। 

इस article में हम आपको यही बताएंगे की वर्णमाला (alphabets) क्या होती है और वर्णमाला में कुल कितने स्वर (vowels) और व्यंजन (consonants) होते हैं और उसके साथ में यह भी बताएंगे कि वर्णमाला के स्वरों और व्यंजनों के कितने भेद होते हैं। सबसे पहले जान लेते हैं कि वर्ण (characters) किसे कहते हैं।

Post Contents:

वर्ण के कितने भेद होते हैं?

Varn Ke Kitane Bhed hote hain

यदि बात की जाए की, वर्ण के कितने भेद होते हैं? तो मूल रूप से वर्ण के दो भेद होते हैं, जिन्हें हम स्वर वर्ण और व्यंजन वर्ण कहते हैं। इसके अलावा इन वर्णों को और भी विभाजित किया गया है अलग- अलग स्वर वर्णों और व्यंजन वर्णों में, इसके बारे में भी हम आपको पूरी जानकारी देंगे।

वैसे तो hindi grammar पढ़ते समय हमें यही पता चलता है कि वर्णों के दो भेद होते हैं यानी कि अ, आ, इ, ई, …. और क, ख, ग… । लेकिन उससे पहले क्या आप यह जानते हैं कि वर्ण क्या होते हैं? तो चलिए सबसे पहले आपको इसी के बारे में बताते हैं।

तो अगर आपसे कोई पूछता है कि वर्ण के कितने भेद होते हैं नाम बताइए?

तो आप कह सकते हैं कि हिंदी वर्णमाला में वर्ण के दो भेद हैं, स्वर और व्यंजन।

वर्ण किसे कहते हैं? वर्ण किसे कहते हैं in hindi?

वर्ण किसे कहते हैं

वर्ण सबसे ध्वनि होती है जैसे टुकड़े नही किए जा सकते हैं इसे हो वर्ण विचार कहते हैं।

वर्ण किसी भी भाषा की मूल इकाई होती है। जिसकी कुछ meaning होता है। वर्ण को और break down नहीं किया जा सकता है। हर एक वर्ण के लिए written में एक संकेत है। जिसे वर्ण संकेत कहते हैं।

जब हम कोई शब्द या sentence बोलते हैं, तो हमारे मुख से ध्वनि (sound) निकलती है। वर्ण ध्वनि का यह रूप लिखित रूप होता है। हिंदी भाषा की लिपि देवनागरी लिपि है, देवनागरी लिपि में हर ध्वनि के लिए एक लिखित संकेत है जिसे वर्ण कहते हैं।

बहुत सारे वर्णों को मिलाकर एक शब्द बनता है, और बहुत सारे शब्दों को मिलाकर एक वाक्य (sentence) बनता है।

ये भी पढ़े…

हिंदी भाषा में कितने वर्ण हैं?

जैसा कि हमने आपको बताया कि हिंदी भाषा की लिपि देवनागरी लिपि है।  देवनागरी भाषा का इस्तेमाल नेपाली, संस्कृत और मराठी भाषा में भी किया जाता है। देवनागरी भाषा में total 52 वर्ण होते है। उनमें से 39 व्यंजन और 13 स्वर कहलाते हैं। वही अगर pronunciation (वर्णन) करने के मामले में देखें तो 45 वर्ण हैं। जिनमें से 35 consonants और 10 vowels हैं।

वर्णमाला क्या होती है? वर्णमाला किसे कहते हैं?

वर्णमाला क्या होती है

वर्णों के group को वर्णमाला कहते हैं। जिस तरीके से माला को बनाने के लिए बहुत सारे मोतियों का इस्तेमाल किया जाता है, उसी तरह वर्णमाला में हिंदी भाषा के 52 वर्णों (characters) का इस्तेमाल किया जाता है।

हर भाषा की अपनी एक अलग वर्णमाला होती है।

हिंदी वर्णमाला – अ, आ, इ, ई ….

अंग्रेजी (English) की वर्णमाला – A, B, C, D, E ….

वर्ण के कितने भेद होते हैं?

हिंदी वर्णमाला में total 44 वर्ण है। जिसमें से 33 consonants है और 11 vowels है। हिंदी भाषा में वर्णों के दो भाग हैं।

  • स्वर 
  • व्यंजन 

स्वर किसे कहते हैं?

स्वर वह वर्ण होते हैं, जिनके pronunciation में दूसरे वर्णों की मदद की जरूरत नहीं पड़ती है। हिंदी भाषा में total 11 स्वर होते हैं। यह स्वर कुछ इस तरीके से होते हैं:

अ,आ,इ,ई,उ,ऊ,ऋ,ए,ऐ,ओ और औ।

स्वर के कितने भेद होते हैं?

स्वर के कितने भेद होते हैं

Hindi grammar में स्वरों को उनके pronunciation में लगने वाले समय के आधार पर divide किया गया है। इसी वजह से स्वर के तीन भेद होते हैं।

  1. ह्रस्व स्वर
  2. दीर्घ स्वर
  3. प्लुत स्वर

ह्रस्व स्वर किसे कहते हैं?

ह्रस्व स्वर वह स्वर कहलाते हैं जिनके pronunciation में सबसे ज्यादा कम समय लगता है। क्योंकि इन स्वरों में केवल एक ही मात्रा होती है। इनके pronunciation में उन स्वरों से कम समय लगता है जिनमें दो मात्राएं होती है। ह्रस्व स्वर के example अ, इ, उ आदि है। 

दीर्घ स्वर किसे कहते हैं?

दीर्घ स्वर वह होते हैं, जिनके pronunciation में ह्रस्व स्वर से ज्यादा समय लगता है क्योंकि दीर्घ स्वरों में एक नहीं दो मात्राएं होती हैं। दीर्घ स्वर के उदाहरण आ, ई, ऊ आदि है।

जैसे अ + अ = आ होता है।

प्लुत स्वर किसे कहते हैं?

प्लुत स्वर के pronunciation में बाकी दोनों स्वरों से ज्यादा समय लगता है, क्योंकि इन स्वरों में तीन मात्राएं होती हैं। प्लुत स्वर का एक बहुत अच्छा उदाहरण ‘ओउम’ शब्द है। 

हिंदी भाषा में वैसे तो तीन मात्रा वाले स्वरों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। लेकिन वैदिक भाषा में प्लुत स्वरों की बहुत ज्यादा importance है।

व्यंजन वर्ण किसे कहते हैं?

व्यंजन वर्ण किसे कहते हैं

जिन वर्णों का प pronunciation स्वरों की सहायता से किया जाता है, उन वर्णों को व्यंजन या consonants कहते हैं। हिंदी वर्णमाला में total 33 व्यंजन है। 

क ख इस तरह के वर्णों को व्यंजन कहते हैं, इसलिए सारे ही स्वर व्यंजन, वर्ण के अंदर भी आते हैं। उदाहरण के लिए क ( = क् + अ ) के pronunciation के लिए अ की जरूरत पड़ती है। 

व्यंजन वर्ण के छह भेद होते हैं।

1. स्पर्श व्यंजन

2. अंतःस्थ व्यंजन 

3. ऊष्म व्यंजन

4. संयुक्त व्यंजन

5. द्वित्व व्यंजन

6. संयुक्ताक्षर व्यंजन 

स्पर्श व्यंजन किसे कहते हैं?

जिन व्यंजनों के pronunciation से इंसान की जीभ दातों, तालु या मसूड़े को स्पर्श (touch) करती है। उन व्यंजनों को स्पर्श व्यंजन कहा जाता है।

स्पर्श व्यंजनों को पांच भागों में बाटा गया है। और उनके हर भाग में पांच व्यंजन होते हैं। यह पांच वर्ग कुछ इस तरह से होते हैं।

क वर्ग में क,ख,ग,घ,ङ आते हैं।

च वर्ग में च,छ,ज,झ,ञ आते हैं।

ट वर्ग में ट,ठ,ड,ढ,ण आते हैं।

त वर्ग में त,थ,द,ध,न आते हैं।

प वर्ग में प,फ,ब,भ,म आते हैं।

अंतःस्थ व्यंजन (consonant) किसे कहते हैं? 

जिन व्यंजनों के pronunciation के समय जीभ अंदर की ओर आती है, उन व्यंजनों को अंत:स्थ व्यंजन कहा जाता है। हिंदी वर्णमाला में चार अंत:स्थ व्यंजन होते हैं।

अंतःस्थ व्यंजन – य, र, ल, व

ऊष्म व्यंजन किसे कहते हैं?

जिन व्यंजन के pronunciation से हवा हमारे मुंह के different भागों से टकराती है उन व्यंजनों को ऊष्म व्यंजन कहते हैं।

हिंदी व्याकरण में ऊष्म व्यंजन चार तरीके के होते हैं।

यह चार ऊष्म व्यंजन श, ष, स और ह हैं।

संयुक्त व्यंजन किसे कहते हैं?

संयुक्त व्यंजन दो या दो से ज्यादा व्यंजनों से मिलकर बनते हैं। हिंदी वर्णमाला में चार संयुक्त व्यंजन होते हैं।

क्ष जो क् + ष + अ से मिलकर बनता है।

त्र जो त् + र् + अ से मिलकर बनता है।

ज्ञ जो ज् + ञ + अ से मिलकर बनता है।

श्र जो श् + र् + अ से मिलकर बनता है।

द्वित्व व्यंजन किसे कहते हैं?

जब किसी शब्द में एक व्यंजन दूसरे व्यंजन के साथ मिल जाता है तब द्वित्व व्यंजन बनता है। ऐसे शब्द में पहले व्यंजन में कोई स्वर नहीं होता और दूसरे व्यंजन में स्वर होता है।

इसके उदाहरण कुछ इस तरह से हैं:

क् + क = पक्का

त् + त = पत्ता

संयुक्ताक्षर व्यंजन किसे कहते हैं?

जहां एक बिना स्वर का व्यंजन दूसरे स्वर के साथ मिले हुए व्यंजन के साथ मिलता है, तब वह एक नया व्यंजन बनाता है जिसे संयुक्ताक्षर व्यंजन कहते हैं।

संयुक्ताक्षर के उदाहरण कुछ इस तरह से होते हैं:

क् + त = क्त = संयुक्त

स् + व = स्व = स्वाद

अब अगर हम आपसे यह सवाल पूछे कि वर्ण के कितने भेद होते हैं बताइए?

तो आप क्या जवाब देंगे हमें comment करके बताइए।

निष्कर्ष – वर्ण के कितने भेद होते हैं?

आज भी बहुत से लोगों को यह नहीं पता कि वर्ण के कितने भेद होते हैं, वर्ण किसे कहते हैं, उन्हें यह नहीं पता कि स्वर और व्यंजन क्या होते हैं और इनके कितने भेद होते हैं। वर्णमाला हिंदी में क्या होती है इसके बारे में भी पूरी जानकारी दी।

इसलिए हमने यह article लिखा जिससे की आपको हम यह बता पाए कि वर्णों के कितने भेद होते हैं और इसके बारे में पूरी जानकारी भी दे पाए क्योंकि यह हमारी भाषा के लिए बहुत ही जरूरी है। 

यह जानकारी बहुत सारे exams में भी पूछी जाती है, तो अगर आप किस चीज की तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए इसकी जानकारी होना जरूरी बन जाता है। वर्ण हमारी हिंदी भाषा की ध्वनियों के लिखित संकेत है।
आपको यह article Varn Ke Kitane Bhed hote hain or वर्ण के कितने भेद होते हैं? कैसा लगा हमें comment करके जरूर बताएं, इससे हमें भी पता चलेगा कि आपका response किस तरह का है और इस article को अपने दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ share करें जिससे उन्हें भी इसकी information मिले। हमारा यह article पढ़ने के लिए धन्यवाद!

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 4.4 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 7

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

2 thoughts on “वर्ण के कितने भेद होते हैं?|Varn Ke Kitane Bhed hote hain?”

  1. वर्ण के 3 भेद है : –
    > स्वर वर्ण
    > व्यंजन वर्ण
    > आयोगवाह
    यहाँ आयोगह 4 प्रकार होते है : –
    > विसर्ग ( : )
    > अनुस्वर ( . )
    > हलन्त ( जैसे :- म् )
    अर्द्ध चन्द्र बिन्दु ( जैसे : – आँख )

    Reply

Leave a Comment