Term loan kya hai

Term loan kya hai या टर्म लोन क्या है, term loan kya hai in hindi, टर्म लोन क्या होता है, टर्म लोन किसे कहते हैं।

क्या आप इस बारे में पूरी जानकारी लेना चाहते हैं कि टर्म लोन क्या है (term loan kya hai), या फिर टर्म लोन क्या होता है और साथ ही में क्या आप इस विषय से जुड़े हुए सारी जरूरी जानकारी के बारे में पता करना चाहते हैं। 

तो आपको चिंता करने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है, क्योंकि आप बिल्कुल सही जगह है आए हैं। आज के हमारे इस आर्टिकल में हम आपको टर्म लोन के बारे में पूरी जानकारी देंगे (term loan kya hai in hindi) और साथ ही में इससे जुड़े हुए टॉपिक्स के बारे में भी बताएंगे तो चलिए शुरू करते हैं। 

दोस्तों इस समय जब पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का प्रकोप चल रहा है, भारत के रिजर्व बैंक ने सभी तरह के लोनो की किस्तों को 3 महीने के लिए टाल दिया है। 

आप में से बहुत लोग यही सोच रहे होंगे, कि टर्म ओन आखिर होता क्या है और इसका हिंदी भाषा में क्या मतलब होता है और साथ ही में किन तरह के बैंकों के लोनाे को टर्म लोन में शामिल किया जाता है। हमारे ब्लॉग के आज के इस आर्टिकल में आपको इन्हीं विषयों पर जानकारी देंगे। 

टर्म लोन क्या है?
टर्म लोन क्या है?

टर्म लोन क्या है? | Term Loan kya hai?

टर्म लोन टाइम का सही मतलब समय, या फिर अवधि के लिए लिया जाने वाला लोन होता है। यानी कि अगर किसी भी लोन को एक नियमित समय के लिए दिया जाता है और जिस लोन का भुगतान पहले से ही तय की गई किस्तों में करना जरूरी होता है, इस तरह की लोन को टर्म लोन कहा जाता है।

हिंदी भाषा में इस लोन को सावधि ऋण कहा जाता है और उर्दू भाषा में इसे अवधि कर्ज नाम से जाना जाता है। टर्म लोन की अवधि 1 साल के समय से लेकर 10 साल तक के लिए हो सकती है और होम लोन जैसे कुछ मामलों में यह अवधि 30 सालों तक भी हो सकती है। भारत की बैंकिंग के संबंध में इस तरह के लोनों को टर्म लोन में शामिल किया गया है।

इन लोनो की किस्ते कम से कम 1 साल तक तो चुकानी ही पड़ती है। टर्म लोन की किस्तों (term loan interest rate) का भुगतान मासिक मतलब कि मंथली, तिमाही मतलब कि 3 महीनों में एक बार या फिर वार्षिक मतलब कि साल में एक बार की जा सकती है। 

टर्म लोन में कई और दूसरे लोन भी आते हैं, जैसे कि बिजनेस लोन, कार लोन, बाइक लोन, पर्सनल लोन, होम लोन। 

इस तरह के लोन में ब्याज की दर को फिक्स्ड या फिर फ्लोटिंग भी रखा जा सकता है, जैसा भी लोन लेते समय तय किया गया हो। 

अगर आप क्रेडिट कार्ड की मदद से कुछ ऐसे भुगतान करते हैं, जिनका सौदा किस्तों में करवा लिया गया हो या फिर निकाले गए पैसे,  आपको अब किस्तों में चुकाने हों, तो वह भी टर्म लोन की ही कैटेगरी में आते हैं।

टर्म लोन की अवधि क्या होती है?
टर्म लोन की अवधि क्या होती है?

टर्म लोन की अवधि क्या होती है? 

लोन की अवधि या समय के हिसाब से टर्म लोन को 3 कैटेगरी में बांटा गया है।

1. Short term loan kya hota hai?

शॉर्ट टर्म लोन जिसे हिंदी भाषा में अल्प समय के लिए लिया जाने वाला टर्म लोन भी कहा जाता है। 

इसकी अवधि 1 साल से लेकर डेढ़ साल तक की हो सकती है। यह लोन इतने कम समय के लिए लिया जाता है, इसी वजह से इसे शॉर्ट टर्म लोन भी कहा जाता है। 

लेकिन कुछ मामलों में बैंक शॉर्ट टर्म लोन को 5 साल या फिर 60 महीने तक के लिए भी दे देती है।

2. इंटरमीडिएट टर्म लोन या फिर मध्यम अवधी टर्म लोन। 

इस तरह के लोनों को 3 साल से लेकर 5 साल तक की अवधि के लिए लिया जाता है और ऐसे ही लोनों को इंटरमीडिएट या फिर मध्यम अवधि टर्म लोन भी कहा जाता है। 

3. लॉन्ग टर्म लोन या फिर दीर्घ अवधि टर्म लोन। 

लॉन्ग टर्म लोनो को 5 साल तक के समय से ज्यादा अवधि के लिए लिया जाता है और ऐसे लोनो को लंबे समय के लिए दिया जाता है, इस तरह के लोनो में होम लोन ज्यादातर आते हैं। 

आप ऑनलाइन कई वेबसाइट्स पर term loan calculator या term loan emi calculator का इस्तेमाल कर सकते हैं।

टर्म लोन का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?
टर्म लोन का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

टर्म लोन का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

आप में से बहुत से लोनो के मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि लोन तो कई तरह के होते हैं, लेकिन टर्म लोन ही क्यों इस्तेमाल किया जाता है। 

बहुत सी छोटी फर्मों को अपना कारोबार बढ़ाने के लिए या फिर बिजनेस को ढंग से चलाने के लिए बहुत बार कर्ज की जरूरत पड़ जाती है। टर्म लोन का इस्तेमाल ऐसी ही जरूरतों को पूरा करने के लिए किया जाता है। छोटी firms या फिर छोटे बिजनेस अपनी जरूरत के हिसाब से किसी भी छोटी या लंबी अवधि या समय के लिए टर्म लोन ले सकती हैं। 

लेकिन जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया था टर्म लोन में कई शर्ते भी शामिल होती हैं, जैसे कि लोन का ब्याज दर क्या होगा, यह बहुत सी बातों पर निर्भर करता है कि आपकी फर्म के हालात क्या है। 

आपने पहले से कोई लोन लिया है या फिर नहीं और आपका लोन चुकाने का इतिहास कैसा है। लेकिन हम आपको इसकी कुछ जरूरी बातें ही बताएंगे। 

  • टर्म लोन का ज्यादातर इस्तेमाल मशीन, भूमि और equipments खरीदने के लिए किया जाता है। अगर आप अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए कोई बिल्डिंग बनाना चाहते हैं तो आप उसके लिए भी टर्म लोन ले सकते हैं। 
  • टर्म लोन का इस्तेमाल लंबे समय के लिए भी किया जा सकता है। आप 10 से 15 साल के लिए भी टर्म लोन ले सकते हैं और इतने समय के लिए लोन manufacturing की फर्मो को दिया जाता है या फिर ट्रेडिंग से जुड़ी हुई सुविधाओं के लिए भी इतने लंबे समय के लिए टर्म लोन दिया जाता है। 
  • इस तरह के लोन देने से पहले बैंक बहुत सी छानबीन करता है। वह प्रोजेक्ट का मूल्य निकालता है और यह देखता है कि प्रोजेक्ट उसके हित में है या फिर नहीं।इसमें बहुत से तकनीकी पहलू भी देखे जाते हैं और ऐसी ही चीजों से पूरी तरह से संतुष्ट होने के बाद ही बैंक ऐसे लोगों को मंजूरी देता है।
  • टर्म लोन के ब्याज का दर और भी कई चीजों पर निर्भर करता है, जैसे कि आपके प्रोजेक्ट से जुड़ी हुई खामियां क्या है, कर्ज लेने वाली फर्म का क्रेडिट इतिहास क्या है और लोन की रकम क्या है, जो वह फार्म लेना चाह रही है। कर्ज का स्ट्रक्चर कैसा है, जिस में बहुत सी बातें शामिल होती हैं और इन्हीं चीजों को देखते हुए लोन को फ्लोटिंग या फिर फिक्स्ड ब्याज दर पर दिया जाता है। 
  • बैंक के रुपयों के साथ बाहर की करेंसी को भी टर्म लोन में दिया जाता है। इस तरह यह लोन इंपोर्ट और export से जुड़े हुए बिजनेस के लिए भी बहुत ज्यादा काम आता है और वह भी इस लोन का फायदा उठा पाते हैं।
टर्म लोन को आप अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं?
टर्म लोन को आप अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं?

टर्म लोन को आप अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं?

जैसा कि हमने आपको पहले बताया था, टर्म लोन के तीन भाग होते हैं। और जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया था कि शॉर्ट टर्म लोन की अवधि बहुत ही कम होती है। 

आप शॉर्ट टर्म लोन को एक पर्सनल लोन की तरह ही समझ सकते हैं, लेकिन पर्सनल लोन के मुकाबले इस लोन की चुकाने की अवधि बहुत ही ज्यादा कम होती है और ऐसे ही लोन आपको पर्सनल लोन की तुलना में थोड़ा ज्यादा जल्दी मिल जाते हैं। 

ऐसे ही अगर आपको नकद पैसों की बहुत ही ज्यादा जरूरत है और आपके लिए कोई पर्सनल लोन सही नहीं है तो आपके लिए अब एक नए लोन का विकल्प खुल गया है जो बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है। 

इस तरह के लोन को शॉर्ट टर्म लोन कहा जाता है, जो पर्सनल लोन की तरह ही होता है, लेकिन इस लोन को चुकाने की अवधि पर्सनल लोन के मुकाबले बहुत ही ज्यादा कम होती है और इसी वजह से यह लोन किसी पर्सनल लोन के मुकाबले आपको ज्यादा जल्दी मिल जाता है और आप अपनी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं।

यह एक ऐसा लोन है, जो आपको हाल की हाल मिल सकता है और इसकी मदद से आप अपनी जिंदगी को थोड़ा ज्यादा आसान बना सकते हैं।

क्योंकि इस लोन में आपको बैंक के बार-बार चक्कर नहीं लगाने पड़ते हैं, क्योंकि बैंक आपको बहुत ही कम दस्तावेजों के ऊपर ऑनलाइन ही यह लोन दे देते हैं और आपकी कई कठिनाइयों को दूर कर देते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों, शॉर्ट टर्म लोन से जुड़े हुए कुछ और भी पहलू होते हैं, जैसे कि इस लोन को नियमित रूप से चुकाने के लिए आपकी एक आय होनी चाहिए और आपके लोन देने के पैसे देने का इतिहास अच्छा होना चाहिए और इसमें आपको अपने पिछले 3 महीने की सैलरी की स्लिप भी देनी पड़ती है, उसको देखकर ही बैंक आपकी आय को confirm करता है।

यह बात तो आपको मालूम ही होगी कि लोन का इस्तेमाल तभी किया जाता है, जब आपको पैसों की जरूरत बहुत ज्यादा हो और बहुत जल्दी चाहिए और आपको उसकी सारी टर्म्स और कंडीशन को पढ़ कर ही लिया जाता है, वरना आप किसी जाल में फस सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल (article) में हमने आपको बताया कि टर्म लोन क्या है (term loan kya hai) मतलब कि term loan meaning in hindi, term loan example, टर्म लोन कितने प्रकार के होते हैं या टर्म लोन के कितने भाग होते हैं, टर्म लोन का इस्तेमाल क्यों किया जाता है और आप टर्म लोन का फायदा कैसे उठा सकते हैं।

यह भी पढ़ें…

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 749

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *