share market kya hai

Share market kya hai, share market kya hai in hindi, share market business kya hai, share market में invest कैसे करे, share market कैसे खेला जाता है, share market nifty kya hai, share market trading kya hai, share market se paise kaise kamaye, share market se पैसे कमाने के आसान तरीके

मित्रो आज हम इस लेख में share market kya hai, share market की जानकारी हिंदी में, share market se paise kaise kamaye, stock market in Hindi, share market business, share market trading क्या है, इन सभी प्रश्नों के जवाब बताने वाले है, अगर आप भी share market kya hai जानने में interest है तो इस लेख को अंतिम तक जरूर देखना क्योंकि इस लेख को अच्छे तरीके से पढ़ने के बाद आपको share market kya hai में कोई doubt नहीं होगा।

Post Contents:

शेयर मार्केट क्या होता है? – What is Share Market in Hindi

शेयर मार्केट एक ऐसा मार्केट होता है जिस पर कोई भी निवेशक अपनी पसंदित कम्पनी के शेयर को खरीद या बेच सकता है।

शेयर मार्केट एक ऐसी जगह है जहाँ पर बहुत सी कम्पनी लिस्टेड होती है और वे कम्पनी अपनी Funding ( बिज़नेस के लिए Fund) लेने के लिए लोगो के बिच शेयर (stock) बेचती है फिर निवेशक ( शेयर मार्केट में paise लगाने वाले ) उन शेयर को खरीदते है और share market se paise कमाते है।

Telegram पर हमारे दोस्त बनिये😊

अगर कम्पनी की performance अच्छी होती है तो निवेशक को उस शेयर का रिटर्न्स अच्छा मिलता है लेकिन अगर उस कम्पनी की परफॉरमेंस डाउन होती है तो निवेशक को lose होता है।

शेयर मार्केट में कभी लॉस तो कभी प्रॉफिट होता रहता है ये उस कम्पनी डिमांड और परफॉरमेंस पर dipend करता है, अगर मार्केट में कम्पनी की डिमांड बढ़ती है तो उसके शेयर की value भी बढ़ती है जिससे इन्वेस्टर का प्रॉफिट भी बढ़ता है, लेकिन अगर किसी कंपनी की value कम होती है तो उस कम्पनी की रेट डाउन हो जाता ही जिससे इन्वेस्टर को लॉस होता है।

शेयर मार्केट में कम्पनीयाँ BSE (Bombay Stock Exchange) और NSE (National Stock Exchange) पर लिस्टेड होती है जो कम्पनीयाँ के शेयर को मंटेन करती है, शेयर मार्केट में BSE पर 4000 से ज्यादा कम्पनीयां लिस्टेड है और NSE पर 1500 से ज्यादा कम्पनीयां है।

BSE और NSE की security का ध्यान SEBI करती है, SEBI (Security and Exchange Board of India) का मुख्य काम शेयर मार्केट में चल रहे सभी गलत कामो पर रोक लगाना और शेयर मार्केट में संतुलन बनाये रखना होता है।

शेयर क्या है? (What is Share in Hindi)

शेयर का मतलब हिस्सा या स्टॉक होता है, जब भी कोई इन्वेटर किसी कंपनी के शेयर खरीदता है तो वह उस कंपनी का शेयरधारक बन जाता है। शेयर की क्वांटिटी के आधार पर सुनिश्चियत किया जाता है की उस शेयर धारक को कम्पनी के कितने प्रतिशत की partnership दी जानी चाहिए।

किसी भी कंपनी को अपने कारोबार में बढ़ोतरी के लिए पैसो की आवश्यकता होती है। लेकिन 99% से अधिक कंपनियों के पास फंड नहीं है कि वे अपने बिजनेस में invest कर सकें। इस फंड को जुटाने के लिए कंपनी शेयर मार्केट में आम लोगो को शेयर जारी करती है। एक निवेशक किसी कंपनी में जितने शेयर खरीदता है, उसे कंपनी में उस प्रतिशत का हिस्सा मिलता है।

जब कोई कंपनी पहली बार अपने शेयर जारी करती है, तो उसे IPO (आरंभिक सार्वजनिक पेशकश) कहा जाता है। आईपीओ लाने के बाद कंपनी के शेयर share market में listed होते हैं, फिर निवेशक शेयर मार्केट से शेयर खरीदते और बेचते हैं।

शेयर मार्केट में शेयर के कितने प्रकार होते है?

शेयर मार्केट में शेयर के कितने प्रकार होते है
Stock kya hai
  1. Equity Share (इक्विटी शेयर)
  2. Preference Share (परेफरेंस शेयर)
  3. DVR Share(डी वी आर शेयर)

1 Equity Share क्या है?

Equity Share को सामान्य शेयर (साधारण शेयर) भी कहा जाता है, शेयर बाजार में listed ज्यादातर कंपनियां Equity share जारी करती हैं Equity शेयरों में अन्य शेयरों के मुकाबले में अधिक कारोबार होता है क्योंकि लगभग सभी कंपनियां आम जनता के लिए Equity शेयर जारी करती है।

02. Preference Share

Preference share के होल्डर को Equity Share होल्डर की तुलना में अधिक प्राथमिकता दी जाती है। हालांकि, ऐसे शेयरधारकों के पास कंपनी की बैठक में अपनी बात को रखने का अधिकार नहीं होता है।

Preference share के अंतर्गत कंपनी बंद होने की स्थिति में भी, शेयर होल्डर को पहले ही share का भुगतान किया जाता है Preference शेयर की कीमत Equity शेयर की मौजूदा कीमत से होती है।

03. DVR Share

DVR शेयर का पूरा नाम “डिफरेंशियल वोटिंग राइट्स” है DVR शेयर धारकों के पास Equity शेयर धारकों की तुलना में बैठक में अपना मत रखने का अधिकार कम होता हैं ऐसे शेयर होल्डर के वोटिंग अधिकारों को कम करने के लिए कंपनी अतिरिक्त Bonus का भुगतान करती है, DVR शेयर की कीमत Equity शेयर की तुलना में कम है।

शेयर मार्केट में कम्पनी को लिस्ट क्यों करते है?

दोस्तों शेयर मार्केट को पैसो का महासागर कहा जाता है क्योंकि इस मार्केट में बहुत सारे पैसे है, और जिस भी कम्पनी को Funding की जरुरत होती है तो वह शेयर मार्केट में आती है और पैसो की कमी को दूर कर अपने बिज़नेस में मुनाफा कमाती है।

Share Market Funding क्या है?

किसी भी कम्पनी का कारोबार बढ़ाने के लिए उसके पास पैसे होना बहुत जरुरी है ताकि वो अपने बिज़नेस में पैसे इन्वेस्ट कर सके, अगर कम्पनी के पास उसकी जरुरत के अनुसार पैसे नहीं होते है तो उस कम्पनी की जरुरत Funding के द्वारा पूरी की जाती है।

Funding किसी बड़े इन्वेस्टर के द्वारा भी ली जाती है, अगर कम्पनी को बहुत अधिक पैसो की जरुरत होती है तो उस कम्पनी को share market में लिस्ट किया जाता है, share market की मदद से लोग उस कंपनी पर पैसे इन्वेस्ट करते है और कम्पनी उस पैसे को बदले में इन्वेस्टर को शेयर या हिस्सेदारी देती है, फिर शेयर मार्केट से इन्वेस्टर द्वारा मिले हुए पैसे का उपयोग वह कंपनी अपने बिज़नेस की Growth में करती है।

शेयर मार्केट में कम्पनी को लिस्ट कैसे करते है इसको हम एक उदारहण के द्वारा आसान तरीके से समझे गे।

शेयर मार्केट में कम्पनी की Listing: आसान शब्दो में।

दोस्तों मान लीजिये की आपने कोई स्टार्टअप चुरू किया है और उसको आप अपने स्तर पर चला रहे हो, लेकिन अगर आपको अपने बिज़नेस को बढ़ाना है या उसको नेशनल तक लेके जाना है तो आपको अधिक पैसो की जरुरत पड़ेगी, फिर आपको उस पैसो की मांग को पूरा करने के लिए Funding की जरुरत पड़ेगी।

Funding को आप दो जगह से ले सकते है एक बड़े इन्वेस्टर से बड़ी Funding या फिर आप शेयर मार्केट से छोटे-छोटे इन्वेस्टर से Funding ले सकते है उसके लिए आपको अपने Strartup या कम्पनी को शेयर मार्केट में लिस्ट करना होता है।

सबसे पहले शेयर मार्केट में कम्पनी को लिस्ट करने के लिए SEBI (Share Exchange Board Of India) में अपनी कम्पनी को वेरीफाई करना होता है उसके बाद अपनी choice के अनुसार कम्पनी को BSE या NSE में से किसी एक stock exchange में लिस्ट किया जाता है।

जब भी कोई कम्पनी शेयर मार्केट में पहली बार लिस्ट होती है तो वह IPO निकलाती है जिसके द्वारा उस कम्पनी को शेयरधारक और Funding मिलती है।

YouTube video

शेयर मार्केट में शेयर कैसे खरीदें?

Share market kya hai को जानने के बाद अब आपके मन में एक और सवाल होगा की शेयर मार्केट में शेयर कैसे ख़रीदे? और शेयर खरीदने के लिए कौन कौन से अकाउंट की जरुरत होती है? इन सभी सवालो के जवाब हम आपको इस भाग में बताहगे।

शेयर मार्केट में किसी भी कम्पनी के शेयर खरीदने के लिए आपको Demat Account और Trading Account की जरुरत पड़ेगी, अगर आपको पास ये दोनों अकाउंट है तो आप बहुत ही आसानी से किसी भी कंपनी के शेयर होल्डर बन सकते है।

Demat Account क्या है?

जब हम शेयर मार्केट से कोई कम्पनी के शेयर खरीदते है तो वह शेयर हमारे Demat Account में Add हो जाते है और जब हम शेयर को sell करते है तो Demat Account से उस शेयर की कमी जो जाती है यानी सीधे शब्दो में कहे तो Demat Account का उपयोग शेयर या स्टॉक के लेन-देन के लिए किया जाता है।

Trading Account क्या है?

शेयर मार्केट में Trading Account का उपयोग शेयर को खरीदने और बेचने के लिए हमें अमाउंट की जरुरत पडती है उस अमाउंट को Bank Account से Demat Account में लाने के लिए हमें Trading Account की जरुरत पडती है, यानी Trading Account का उपयोग शेयर की खरीदी और बिक्री के लिए किया जाता है।

Demat Account और Trading Account की मदद से आप शेयर मार्केट में बहुत ही आसानी से शेयर खरीद सकते है।

शेयर मार्केट में शेयर खरीदने के तरीके

  1. सबसे पहले उस Apps या platform को ओपन करना है जिसमे आपका Demat Account बना हो, जैसे: Zerodha, Upstok, Angel One।
  1. अब आपको उस कम्पनी को search करना है जिसका शेयर खरीदना चाहते हो, उसके बाद आपको उस कम्पनी को choose करना है।
  1. अब उस पर आपको BUY और SELL के दो बड़े बटन दिखाई देंगे।
  2. अगर आपको शेयर खरीदना है तो BUY पर क्लिक कीजिये और अगर आपको शेयर बेचना है तो Sell पर click कीजिये।
  1. अंतिम में आपको कम्पनी के जितने भी शेयर खरीदने है उसकी Quantity डाल कर उसे Submit करना है।
  2. अब आपका शेयर BUY हो गया है आप उस शेयर और कम्पनी की performance भी देख सकते है।

शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाए? – Share Market se paise kaise kamaye in Hindi

Share market se paise kaise kamaye में हम शेयर मार्किट से पैसे कमाने के तरीको के बारे में जानेगे जिससे आप शेयर मार्केट में नुकसान कम और मुनाफा ज्यादा कमा पाहोगे 

शेयर मार्केट में लालच नहीं करें

शेयर बाजार में अगर आप सफल होना चाहते हैं तो इसके लिए आपको हमेशा लालच से दूर रहना ही होगा, कभी-कभी लोग निवेश करके अच्छा पैसा कमाते हैं। और फिर लालच की वजह से वे लोग अपना सारा पैसा भी खो देते हैं। इसलिए निवेश करने से पहले आपको अपना target देखना होगा की आपको मार्केट से कब बाहर निकलना है, और किस समय मार्केट में जाना चाहिए।

Long Time Investment से पैसे कैसे कमाए

दोस्तों शेयर मार्केट में कोई एक दिन में अमीर नहीं बन सकता, इसके लिए आपको काफ़ी समय देना पड़ता है। आपको लंबी अवधि के लिए अच्छे शेयरों में निवेश करना चाहिए, कम समय में कोई भी शेयर छोटी-छोटी खबरों की वजह से ऊपर-नीचे होता रहता है।

शेयर मार्केट में अगर आप लम्बे समय के लिए निवेश करते हैं तो इन छोटी खबरों का असर न के बराबर होगा। और आप उस स्टॉक में अच्छा प्रॉफिट बना पहोगे।

Emotion पर Control रखे

आपके पास शेयर बाजार में लाभ और हानि दोनों होने की समान संभावना है। यदि आप अपनी भावनाओं पर नियंत्रण न रखकर निर्णय लेते हैं तो इससे आपको काफी नुकसान भी हो सकता है। अवसर कितना भी अच्छा क्यों न हो, आपको कभी भी जल्दबाजी में शेयर खरीदने और बेचने के चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए।

Strong Share के साथ बने रहे

शेयर मार्केट से पैसा कमाने के लिए जब भी आप शेयर खरीदें तो आपको Fundamentally रूप से Strong Share को ही चुनना चाहिए, यानी आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि कंपनी हर साल अच्छा मुनाफा कमा रही है या नहीं, कम्पनी के प्रॉफिट और बिज़नेस में निरंतर वृद्धि के साथ ही कंपनी में invest करना चाहिए जिससे आप आने वाले दिनों में अच्छा प्रॉफिट कमा सकेंगे।

मार्केट में News के साथ अपडेट रहे

आपने जो भी स्टॉक खरीदा है, उस stock की शेयर मार्केट में चल रही खबरों के बारे में आपको हर समय अपडेट रहना चाहिए।

शेयर मार्केट में बहुत से लोग शेयर खरीदते हैं लेकिन उस शेयर को लेकर मार्केट में क्या-क्या खबरें चल रही हैं, इस पर ज्यादा ध्यान नहीं देते, जिसके कारण कई बार ज्यादा बुरी खबरों की वजह से शेयर की कीमत अचानक नीचे आ जाती है जिससे investor को काफी नुकसान हो जाता है इसलिए आपको शेयर मार्केट में अपडेट रहना बहुत जरूरी है।

Future के हिसाब से शेयर ख़रीदे

शेयर मार्केट में आपको ऐसे स्टॉक में निवेश करना चाहिए जो भविष्य के हिसाब से काम करे, जिससे लगता है कि आने वाले समय में यह कंपनी अच्छा प्रदर्शन कर सकती है ऐसे शेयरों में निवेश करके आप शेयर बाजार से अच्छा पैसा कमा पाएंगे।

गिरावट में Share खरीदे

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अगर आपने कम्पनी का Strong शेयर अच्छा खरीदा है, तो जब भी आपको उस स्टॉक में गिरावट का माहौल दिखे तो आपको खरीदारी करते रहना होगा, यानी अगर उस शेयर की value कम होती है तो आपको उसकी quantity में बढ़ोतरी करनी चाहिए, इससे आपके शेयर की कीमत औसत रहेगी और जब भी शेयर की कीमत बढ़ेगी आप अच्छा मुनाफा कमा पाएंगे।

मार्केट की Study करें

आपको मार्केट में शेयर खरीदने से पहले मार्केट study करना चाहिए, जिसमे आपको ये जानना बहुत जरुरी है की कम्पनी की value क्या है?, कम्पनी के प्रोडक्ट या सर्विस कैसी है?, भविष्य में कम्पनी की डिमांड क्या होंगी? इन सभी सावलो पर study कर ही मार्केट में invest करना चाहिए जिससे आप अच्छा मुनाफा कमा पहोगे।

शेयर मार्केट ट्रेडिंग क्या है? – Share Market Trading in Hindi

Share Market Trading in Hindi
Share Market Trading In Hindi

ट्रेडिंग का सामान्य अर्थ है किसी भी वस्तु या share को कम कीमत पर खरीदना और फिर उस stock या share की कीमत बढ़ने पर उसे बेचना, यही कारण है कि शेयर बाजार में सबसे अधिक ट्रेडिंग की जाती है और लोगहर दिन शेयरों पर व्यापार कर रहे हैं। ऐसा करके वे हजारों-लाखों रुपये कमाते हैं।

ट्रेडिंग शेयर मार्केट में की जाती है इसलिए इसे शेयर मार्केट ट्रेडिंग भी कहते है।

शेयर मार्केट में ट्रेडिंग का समय सुबह 9:15 से 3:30 बजे तक होता है इसलिए निवेशक सुबह share कम कीमत पर खरीदते है और 3:30 से पहले अधिक कीमत पर बेच देते है।

Share market में निवेशक अपने द्वारा खरीदे गए स्टॉक पर profit देखकर स्टॉक बेचकर मुनाफा कमाता है लेकिन शेयर बाजार में अलग-अलग तरह की ट्रेडिंग होती है और ट्रेडर अपनी सुविधा और risk के हिसाब से ट्रेड करते हैं।

ट्रेडिंग के प्रकार (Type of Trading in Hindi)

शेयर मार्केट में ट्रेडिंग के मुख्य रूप से तीन प्रकार होते है:

  • Intraday Trading 
  • Scalping Trading
  • Swing Trading

Intraday Trading Kya Hai

Intraday Trading में शेयर मार्केट के खुलने से पहले और उसके बंद होने से पहले शेयरों की खरीद और बिक्री की जाती है, इस ट्रेडिंग निवेशक सुबह 9:15 बजे से दोपहर 3:30 बजे तक मार्केट में स्टॉक को Buy और Sell करता है।

Scalping Trading Kya Hai

Scalping Trading भी शेयर मार्केट के खुलने और बंद होने के बीच की जाती है लेकिन स्कैल्पिंग ट्रेडिंग में पूरे दिन ट्रेडिंग नहीं की जाती है, यह ट्रेडिंग अधिक पैसे के साथ कुछ मिनटों या घंटों के लिए की जाती है,जैसे प्रॉफिट कमाने के लिए सुबह 9:15 बजे स्टॉक को खरीदना और सुबह 10:05 बजे स्टॉक को बेचना।

Swing Trading Kya Hai

Swing Trading उन दोनों ट्रेडिंग (intraday trading and scalping trading) से अलग तरह की होती है यह ट्रेडिंग कुछ दिनों और हफ्तों के लिए की जाती है, इसमें भी उन दोनों की तरह शेयर को मार्केट के खुलने और बंद होने के बिच में Buy और Sell करते है।

 Swing Trading में निवेशक पहले शेयर मार्केट में कम कीमत पर शेयर खरीदते हैं और फिर उन्हें कुछ दिनों तक होल्ड कर रखते हैं, उसके बाद जब कुछ दिनों या हफ्तों में उनके शेयरों की कीमत ज्यादा हो जाती है तब इन शेयर को बेचकर मुनाफा कमाते हैं।

विस्तार से पढ़ें: ट्रेडिंग अकाउंट क्या है? ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये?

शेयर मार्केट में सेंसेक्स क्या होता है?

सेंसेक्स शब्द sensitive और Index शब्दों से मिलकर बना है जिसका मतलब “एक संवेदी सूचकांक” होता है।

Sensex हमारे भारतीय शेयर मार्केट का बेंचमार्क इंडेक्स है, जिसका काम BSE (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) में listed stock के उतार-चढ़ाव को बताना है, इसके जरिए हमें इसमें listed India की 30 सबसे बड़ी कंपनियों के performance की जानकारी मिलती है।

सेंसेक्स जो एक share market index है और इसका सबसे महत्वपूर्ण कार्य share market में listed कंपनियों के सभी शेयरों या शेयर की कीमत पर नजर रखना है, इसकी मदद से कंपनियों के शेयरों की कीमतों में तेजी और गिरावट की जानकारी आसानी से मिल जाती है।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE), जो भारत का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है, इस BSE के index में कुल 30 प्रमुख भारतीय कंपनियां हैं, ये कंपनियां बहुत बड़ी हैं अगर हम market value को देखें, तो यह कम्पनीयां वर्तमान में भारतीय कुल जीडीपी (GDP) का 37% है।

एक तरह से देखा जाहे तो ये कम्पनी share market का ट्रेड सेट करने का काम करती हैं।

सेंसेक्स को सीधे शब्दों में कहें, तो भारत की बड़ी कंपनियों के शेयरों की कीमतों के मापने के लिए बनाए गए index, जो इन कंपनियों के शेयरों की बढ़ती और घटती कीमतों पर नजर रखता है, सेंसेक्स (Sensex) कहलाता है।

शेयर मार्केट में निफ्टी क्या है?

Nifty की full form “National Stock Exchange” होती है जिसको हम आम शब्दों में निफ्टी (Nifty) कहते है और निफ्टी में 50 कंपनिया लिस्टेड होती है इसलिए इसे निफ्टी 50 (Nifty 50)कहते है।

Nifty 50 की मदद से हम न सिर्फ शेयर बाजार के बारे में जान सकते हैं बल्कि इसकी साहयता से हम शेयर बाजार में हो रही बड़ी हलचल को भी आसानी से समझ सकते हैं।

 Nifty 50 मार्केट की स्थिति के बारे में बताती है कि आज बाजार ऊपर या नीचे जाएगा, निफ्टी की मदद से हम आसानी से स्टॉक एक्सचेंज में बदलाव देख सकते हैं और समझ सकते हैं कि शेयर बाजार में क्या हो रहा है और आज बाजार कैसा है।

निफ्टी 50 में लिस्टेड टॉप 50 शेयर बहुत महत्वपूर्ण और ताकतवर होते हैं और जब इन शेयरों में उतार-चढ़ाव आता है तो बाकी शेयरों पर भी इसका असर पड़ता है।

निफ्टी 50 क्या है? – Nifty 50 in Hindi

निफ्टी एक स्टॉक index है और इसके भीतर स्टॉक एक्सचेंज के 12 अलग-अलग सेक्टर की 50 कंपनियों को index किया जाता है 50 से ज्यादा कंपनियों के शेयर निफ्टी 50 में लिस्ट नहीं हो सकते हैं, इसलिए इसे निफ्टी 50 कहते है।

 निफ्टी 50 में हमेशा टॉप 50 कंपनियां होती हैं और ये कंपनियां अपने परफॉर्मेंस की वजह से निफ्टी 50 की लिस्ट में आती-जाती रहती हैं, निफ्टी ज्यादातर शीर्ष 50 कंपनियों और उनके शेयरों में उतार-चढ़ाव के बारे में जानकारी प्रदान करती है।

शेयर मार्केट को समझने के लिए बेहतरीन किताबें

Share market kya hai, share market सीखने के लिए आपके पास एक अच्छे राइटर की अच्छी बुक होनी बहुत जरुरी है, हम आपको Top 5 share market book in Hindi बताहेगे जिसकी मदद से आप शेयर मार्केट को बहुत जल्दी सीख सकते हो।

             Book Name         Writer Name 
  The intelligent investor Benjamin graham
  The psychology of moneyMorgan Housel
  The bhandho investor Mohnish Pabrai 
  Learn to earnPeter lynch
  The warren buffet way Robert G Hagstrom 
Top 5 share market book in Hindi

ये भी पढ़े:

शेयर मार्केट क्या है से सम्बंधित FAQ

Share market में इन्वेस्ट करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

शेयर मार्केट में पैसे इन्वेस्ट करने के लिए निवेशक की आयु कम से कम 18 वर्ष, पैन कार्ड और बैंक अकाउंट होना चाहिए।

किसी कंपनी का शेयर कब बढ़ता है?

शेयर मार्केट में जब भी कोई कम्पनी लिस्ट होती है तो उनके शेयर की कीमत निश्चित होती है, लेकिन उसके बाद उस कम्पनी में निवेशको की संख्या बढ़ जाती है तो शेयर की कीमत भी बढ़ती है।

भारत में कुल कितने शेयर बाजार है?

भारत में 21 stock Exchange है जिसमे से BSE (बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज) और NSE (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) ये दोनों सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज है।

विश्व में सबसे बड़ा शेयर मार्केट कौन सा है?

संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (NYSE) 11 विश्व का सबसे बड़ा शेयर मार्केट है।

भारत में पहला शेयर बाजार कौन सा है?

भारत में पहला शेयर मार्केट BSE (बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज) है जिसकी स्थापना 31 अगस्त 1957 को हुई थी।

निष्कर्ष : Share market kya hai in Hindi

आज के इस लेख में हमने समझा की share market kya hai, share market in hindi,और share market business के बारे में अच्छी तरीके से पढ़ा है।

Share market kya hai में आपको share market nifty और share market trading के बारे में जानकारी प्रदान की है ताकि आपको share market को समझने में कोई समस्या नहीं ह। दोस्तों हम आशा करते है की आपको share market kya hai in Hindi में कोई डॉउट नहीं रहा होगा।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 1526

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.