5
(74)

दोस्तों क्या आप जानना चाहते हैं कि कुन फाया कुन का हिंदी में क्या मतलब होता है या Kun Faya kun Meaning in Hindi, अगर हां तो हमारे इस article को अंत तक जरूर पूढ़िएगा।

हम आपको अपने इस आर्टिकल की मदद से (kun faya kun meaning in hindi) कुन फाया कुन के अर्थ के बारे में विस्तार से बताएंगे। इसके अर्थ के साथ में हम आपको इसके इतिहास के बारे में भी पूरी जानकारी देंगे। 

अगर आपने बॉलीवुड की बहुत ही ज्यादा सफल मूवी “रॉकस्टार” को देखा है तो आपने उसका यह गाना जरूर सुना होगा जिसका नाम है कुन फाया कुन। यह 2011 में 11 नवंबर को रिलीज हुई थी। 

आज के समय में भी बहुत से लोग इस गाने को सुनना पसंद करते हैं और उन पुरानी यादों को ताजा करने की कोशिश करते हैं, यह एक बहुत ही ज्यादा सूफियाना गाना है। लेकिन बहुत से लोगों को इन शब्दों का मतलब समझ पाने में तकलीफ होती है और वह यही सोचते रहते हैं, कि कुन फाया कुन का मतलब क्या होता है।

Kun Faya Kun Meaning in Hindi

आप में से बहुत से लोगों ने इन शब्दों पर बने हुए गाने को सुना होगा, और यह गाना सुनकर ही आपको लगा होगा कि इसका मतलब क्या होता है, इसलिए हमने आपके लिए यह आर्टिकल लिखा है।

कुन फाया कुन का मतलब क्या होता है? (meaning of kun faya kun in hindi)

कुन फाया कुन एक अरबी शब्द है, कुन फाया कुन शब्द का सबसे पहले अर्ज कुरान में जिक्र हुआ था। यह शब्द अरबी भाषा से लिए गए हैं, कौन और फाया कुन यह दो शब्दों का मेल है, कुन फाया कुन का अर्थ अलग-अलग भाषाओं में अलग तरह से बताया जाता है। 

कुन का मतलब हिंदी भाषा में “हो जा” होता है और अंग्रेजी भाषा में “To be” होता है। फाया कुन का मतलब (faya kun meaning) हिंदी भाषा में “तो फ़ौरन हो जाती है” होता है और अंग्रेजी भाषा में “It is” होता है। अब आपको पता चल गया होगा कि meaning of kun faya kun होता है।

कुन फाया कुन का कुरान में 5 बार जिक्र किया गया है। यह भगवान की रचनात्मक शक्ति का एक प्रतीक है। यह शब्द हमें भगवान की इच्छा और उसकी हर रचना के बारे में बताते हैं।

अगर आसान शब्दों में बताया जाए तो यह भगवान की एक शक्ति है। जब वह चाहते हैं कि किसी चीज को असलियत में कर दिया जाए तो है एक हुकुम देते हैं, कुन “To be” / “हो जा,” और फिर वह चीज तुरंत हो जाती है, मतलब कि फाया कुन, जिसका मतलब होता है “It is” / “तो फ़ौरन हो जाती है।” 

अब आपको सही तरह से kun faya meaning समझ आ गया होगा। अगर नहीं तो आगे पढ़ते जाइए।😄

इससे हमें यह बात समझ में आती है कि, कुन फाया कुन दुनिया के निर्माण से जुड़ा हुआ है। उस गाने में एक लाइन ऐसी भी है, “जब कहीं पे कुछ नहीं भी नहीं था, वही था, वही था।” जब हम किसी चीज के बारे में दिल से इच्छा रखते हैं और उसे चाहते हैं। और अगर हम उस चीज को पूरे दिल से भगवान से मांगते हैं, तो वह चीज भगवान भी हमें खुश होकर दे देते हैं।

कुरान के हिसाब से कुन फाया कुन का क्या मतलब होता है? (kun faya kun meaning in urdu)

kun faya kun meaning in urdu

अगर आपने “सूरह बकराह” 2:117 पढ़ी है, तो उसमें भी आपने इस शब्द के बारे में पढ़ने को मिला होगा। हम आपको उसके शब्दों के अनुवाद हिन्दी में नीचे बताएंगे।

हिंदी अनुवाद: वह (अल्लाह) आसमान और जमीन का को बनाने वाला है, और जिस बात का फैसला वह करता है, उसके लिए बस एक ही हुक्म देता है कि होजा और वह चीज अपने आप ही हो जाती है।

कुन फाया कुन शब्द इतना ज्यादा चर्चा में क्यों है?

कुन फाया कुन शब्द इतना ज्यादा चर्चा में इसलिए है, क्योंकि जैसे कि हमने आपको पहले भी इस आर्टिकल में बताया था कि 11 नवंबर 2011 को एक फिल्म रिलीज हुई थी जिसका नाम रॉकस्टार था। 

आप kun faya kun lyrics meaning भी ढूंढ़ सकते हैं, अगर आप इस गाने के lyrics का मतलब ढूंडना चाहते हैं।

उसी फिल्म में एक गाना है जिसका नाम है ‘कुन फाया कुन’, इस फिल्म को रिलीज हुए लगभग 11 वर्ष हो चुके हैं, लेकिन उस गाने को लोग आज तक नहीं भूल पाए हैं, उसी गाने में कुन फाया कुन एक शब्द है। 

YouTube video

क्योंकि यह एक हिंदी शब्द नहीं है, और लोगों को इसका अर्थ नहीं पता है, इसलिए लोग इसके बारे में जानकारी पाने के लिए बहुत ही ज्यादा उत्सुक हैं और वह हर जगह इस शब्द का मतलब ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं।

कुन फाया कुन गाना किसने गाया था?

कुन फाया कुन गाने को जावेद अली ने गया था और इस गाने को इरशाद कामिल ने लिखा है, और ए आर रहमान ने इसमें अपने संगीत का जादू भरा है, यह गाना रूह को सुकून देने वाला एक रूहानी सूफी गीत है। 

आप kun faya kun song meaning भी ढूंढ़ सकते हैं, ताकि आप सही ढ़ंग से इसका मतलब समझ पाएं।

क्या कुन फाया कुन की मदद से बॉलीवुड में सूफी गाने आ गए हैं?

कुन फाया कुन गाना किसने गाया था

हां दोस्तों, इस गाने की मदद से बॉलीवुड में सूफी गानों का इस्तेमाल किया जाने लगा है, यह गाना 2011 में आया था और यह इतना ज्यादा पॉपुलर हुआ कि फिल्म बनाने वालों को यह आइडिया मिल गया कि सूफी गानों का इस्तेमाल करके भी पिक्चरों को हिट किया जा सकता है।  

कहने को तो रॉकस्टार एक सूफी गाने के हिसाब से फिल्म नहीं थी, क्यूंकि यह एक रेबेल तरीके की फिल्म है, लेकिन वह गाना इतना ज्यादा मनमोहनिए है कि लोगों ने जैसे ही उन्हें उस गाने को सुना वह उसको बार-बार सुनने से खुद को रोक नहीं सके। 

यह बात सच भी निकली है, पिछले दस सालो में हिंदी सिनेमा में कई सूफी गानों का इस्तेमाल किया गया है, और सूफी गानों के लिए अब एक फॉलोअर बेस भी बन गया है।

निजामी बंधु, जिन्होंने रॉकस्टार फिल्म में कुन फाया कुन और बजरंगी भाईजान में भर दो झोली मेरी, जैसी गाने गाए हैं, उनका यह मानना है कि बॉलीवुड की फिल्मों में अब सूफी गाने बहुत ही ज्यादा जरूरी हो गए हैं और अब सूफी गानों का समय चल रहा है।

क्या आप कुन फाया कुन के बारे में और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं? 

कुरान 2:117 में लिखा हुआ है कि अल्लाह केवल दो शब्द बोलता है कुन और फाया कुन और उनकी कही गई हर चीज खुद ब खुद हो जाती है। 

इससे हमें यह पता चलता है कि कुरान में अल्लाह ने लोगों को इशारे दिए हैं, और कुरान की हर लाइन का मतलब कुछ और ही होता है, जिसके बारे में बहुत से लोग नहीं समझ पाते हैं। 

कुरान एक एसी किताब है जो हमारी जिंदगी से  जुड़ी हुई है और इसे पढ़कर हमें जिंदगी जीने का एक बेहतर तरीका पता चलता है। 

इस verse को पढ़कर हमें यह पता चल जाता है कि चाहे हम हम जितना भी है सोचते रहे कि हमें हर चीज के बारे में जानकारी है, लेकिन असलियत मे हमें बहुत ही कम जानकारी होती है। 

कुरान का यह वर्स creation के ऊपर लिखा गया है और साथ ही में जो लोग आसमान और धरती को बनाने वाले और चलाने वाले के बारे में जानना चाहते हैं, यह लाइन भगवान के बारे में जानकारी प्राप्त करने का एक बहुत ही बढ़िया जरिया है। 

जिंदगी कैसे बनी, इंसान कैसे बने उनका डेवलपमेंट कैसे हुआ, दुनिया का सबसे पहले इंसान एडम कैसे बना था, इस वर्से को पढ़कर हमें इन सब चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त होती है। 

यह लाइन पढ़कर इस बारे में भी जानकारी मिलती है कि भगवान (अल्लाह) के पास कितनी शक्ति है और वह किसी भी चीज को कितनी जल्दी बना सकता है या खत्म कर सकता है। 

हालाकि इसमें केवल दो ही शब्द हैं, यह बात सोचने वाली है कि केवल दो शब्दों का मतलब इतना deep कैसे हो सकता है, लेकिन जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया था कुरान में हर लाइन का मतलब अलग निकलता है।

अगर जबकि हम इस टॉपिक पर आ ही गए हैं तो आपको यह भी बता देते हैं कि कुरान पढ़ते समय एक इंसान के मन में क्या सवाल उठते हैं।

कुरान पढ़ते समय एक इंसान के में में मन में क्या सवाल उठते हैं?

एक इंसान जोकि कुरान पढ़ रहा था उसने यह सवाल पूछे, हम सब कौन हैं? हम कहां से आए हैं? इस धरती पर जिंदगी कैसे बनी? हमारे ancestors कौन थे?

यह कुछ intriguing सवाल थे जो हमने भी अपनी जिंदगी में कभी ना कभी खुद से पूछे ही होंगे और लोग पूरी जिंदगी धर्म और विज्ञान में इन सवालों के जवाब ढूंढते रहते हैं।  

ऐसे ही “कुन फाया कुन” शब्द हमें मानवजाति के जन्म के बारे में जानकारी देते हैं। और जिसका मतलब होता है कि अल्लाह ने इस धरती को बनाते समय केवल दो शब्द बोले थे, कुन और फाया कुन, और यह धरती बन गई थी। 

ये भी पढ़े…

निष्कर्ष about Kun faya kun Meaning in Hindi

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हमने आपको कुन फाया कुन, शब्द का मीनिंग बताया, और इस विषय से जुड़ी हुई सरी जानकारी आपको अपने इस आर्टिकल कि मदद से देने की कोशिश की।

आशा करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा, इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें, जो इन शब्दों का मतलब खोज कर रहे हैं।

हमारे इस आर्टिकल Kun faya kun Meaning in Hindi को अंत तक पढ़ने के धन्यवाद!

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 74

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *