Internet kya hai

Internet Kya Hai: दोस्तों, आज के समय Internet एक ऐसी है जो हमारे लगभग सभी कार्य आसान करने में सक्षम है। Internet की मदद से आज के समय हम Interconnectivity का फायदा उठाकर हजारों काम चुटकियों कर सकते हैं। Internet ने हमारे जीवन को आसान और आधुनिक बना दिया है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह Internet Kya Hai? Internet की खोज किसने की थी? Internet के फायदे क्या है? Internet का इतिहास क्या है? Internet के नुकसान क्या है?

यदि आप Internet के बारे में यह सब कुछ नहीं जानते हैं, और जानना चाहते हैं तो आज के लेख में हम आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हुए सारी जानकारी देंगे। साथ ही आपको बताएंगे कि Internet की खोज किसने की।

तो चलिए शुरू करते हैं-

Internet क्या है? – Internet Kya Hai?

दोस्तों, Internet एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा पूरे विश्व के लोग एक दूसरे से Connect हो पाते हैं। Connectivity स्थापित करने के पश्चात क्या काम करते हैं वह मुद्दा अलग है, लेकिन अपने आप में लाखों करोड़ों लोग एक दूसरे से एक साथ connect हो सके इसके लिए हमें Connection medium उपलब्ध कराता है। Internet को देखा नहीं जा सकता है, Internet को महसूस नहीं किया जा सकता है, लेकिन Internet को इस्तेमाल किया जा सकता है।

Internet को हम एक Computer Network सकते हैं जो मानकीकृत प्रोटोकॉल का उपयोग करके या Standard Internet Protocol का उपयोग करके पूरे विश्व के लोगों को पूरे विश्व की जानकारी पहुंचाता है। इसके माध्यम से हम जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, सुविधाएं प्राप्त कर सकते हैं, इसके अलावा हम अनेकों प्रकार की फाइल का आदान-प्रदान भी कर सकते हैं।

Internet के माध्यम से हम संचार कर सकते हैं, गाने सुन सकते हैं, वीडियो देख सकते हैं, फाइल्स डाउनलोड कर सकते हैं। इन्टरनेट को कोई सरकार नहीं चला सकती है, लेकिन सरकार इस पर रोक लगा सकती है। Internet को चलाने के लिए अनेकों प्राइवेट कंपनी, ऑर्गेनाइजेशन और उनके सर्वर होते हैं जो उचित दरों पर हमारे पास Internet उपलब्ध कराते हैं।

Internet के बारे में जानकारीजवाब
भारत में Internet कब आया?14 अगस्त 1995
Internet के अविष्कारकVint Cerf तथा Bob Kahn (Robert Elliot Kahn) ने
लेटेस्ट Internet जनरेशन6G
सबसे सस्ता Internet कहाँ है?भारत में
Internet कितने प्रकार का है?Cable Connection Internet Digital Subscriber Line Internet Connection Fiber Connection i।e। Optical Fiber Connection Satellite Internet Connection Wireless Internet Connection Light Emitted Internet
Internet की सबसे छोटी ईकाईबिट
सबसे पहले इन्टरनेट किसने बनाया?अमेरिकी सेना ने

इन्टरनेट का आधार – Base of Internet

Internet का आधार client-server की वास्तुकला पर आधारित है, क्योंकि Internet और Internet पर मौजूद सुविधाओं तथा सूचनाओं का उपयोग किया जाता है, जिसे आमतौर पर क्लाइंट कहा जाता है। क्लाइंट जहां से Internet का Access करता है और Internet की सुविधा उपलब्ध करता है उसे server कहा जाता है।

उदाहरण के तौर पर हम यह समझ सकते हैं कि यदि आप Internet पर एक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं कि “Internet की उत्पत्ति कैसे हुई?” तो Internet इसके बारे में कुछ नहीं जानता। इसके बारे में कुछ लोग जानते हैं जो इस जानकारी को अपने एक वेब पेज पर सुरक्षित रखते हैं। वेब पेज एक डाटा सेंटर पर अपलोड किया हुआ होता है। हालांकि यह अपलोड करने का काम वह व्यक्ति स्वयं भी कर सकता है, लेकिन जब एक वेब पेज को Internet से Connect किया जाता है तब Automatically एक Data center पर Upload हो जाता है।

अब आप समझ चुके होंगे कि Internet Kya Hai और इसका आधार क्या है।

यह भी पढ़ें –Aadhar Card se Paise Nikalne Wala Apps

Internet की खोज किसने की?

अभी हमने यह तो जान लिया की Internet Kya Hai? अब हम Internet की खोज से संबन्धित जानकारी प्राप्त करेंगे। Internet की खोज किसी एक व्यक्ति का कार्य नहीं है। Internet की खोज में अनेकों लोगों का हाथ था। लेकिन यदि संस्थागत तरीके से बात की जाए तो Internet की शुरुआत सबसे पहले अमेरिकी सेना के द्वारा की गई थी।

अमेरिकी सेना के रक्षा विभाग ने सन 1957 में एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी की स्थापना की थी जिसके अंतर्गत सन 1969 में ARPANET (Advance Research Pdojects Agency Network) ने दुनिया के सभी कंप्यूटरों को एक साथ जोड़ने के लिए एक तकनीक को बनाने का उद्देश्य स्थापित किया।

1980 तक आते-आते यह एक वास्तविकता बन चुकी थी, जिसका नाम Internet था। Internet की खोज मूल रूप से Vint Cerf तथा Bob Kahn (Robert Elliot Kahn) ने की थी, तथा इन्होंने ही Transmission Control Protocol और Internet Protocol का आविष्कार किया था।

Internet का इतिहास क्या है? – History of Internet

इसके इतिहास के बारे में बहुत कम लोगो को जानकारी है, चलिये internet का इतिहास जानते है। शीत युद्ध के दौरान कई बार ऐसी खबरें आ रही थी कि एलियंस अमेरिका के चक्कर लगा रहे हैं। कई बार तो ऐसी खबरें भी आने लगी जिसके पश्चात लोगों ने यह मानना शुरू कर दिया कि अमेरिका ने गलत तरीके से एक एलियन को पकड़ लिया है, और उसे बंदी बना लिया।

इसके पश्चात शीत युद्ध के दौरान अमेरिकी सेना में भयंकर विकास देखने को मिला, और अमेरिकी सेना ने Internet का आविष्कार किया था। हालांकि इन्टरनेट का अविष्कार करने वाले वैज्ञानिक अमेरिकी वैज्ञानिक थे, उन्होंने Internet का आविष्कार अमेरिकी सेना के लिए किया था।

शुरुआत में Internet मात्र चार Computer को आपस में जोड़कर और उन सभी का एक से एक साथ करके बनाया गया था। जब यह सही ढंग से कार्य करने लगा तब और अधिक Computer एक साथ जोड़े गए तथा Computer की संख्या 37 हो गई। इसके पश्चात Computer के इस Connection का विस्तार बढ़ने लगा, जो कि नॉर्वे और इंग्लैंड तक फैल गया था।

इसके पश्चात आम लोगों के लिए भी सन 1974 तक Internet का इस्तेमाल शुरू कर दिया गया जिसे टेलीनेट काम किया गया। जब टेलीनेट का उपयोग लोगों तक शुरू कराया गया तब इस्तेमाल करने के कुछ नियम और कानून भी बनाए गए जिन्हें Internet Protocol खा जाता है। यही Internet का इतिहास है।

इसी के साथ यदि हम भारत में Internet के आगमन की बात करें तो 14 अगस्त 1995 को विदेश संचार निगम के माध्यम से Internet सर्विस से भारत में लोगों के लिए शुरू की गई थी।

यह भी पढ़ें –Photo ka background kaise change kare

Internet कितने प्रकार का होता है?

Internet मूल रूप से 5 तरीकों से वर्गीकृत किया जा सकता है, जिसे-

  1. Cable Connection Internet
  2. Digital Subscriber Line Internet Connection
  3. Fiber Connection i.e. Optical Fiber Connection
  4. Satellite Internet Connection
  5. Wireless Internet Connection

इन सभी के तौर पर वर्गीकृत किया जा सकता है। यही सब Internet के प्रकार होते हैं।

Internet कितने प्रकार का होता है

Internet की क्या विशेषताएं हैं?

यदि हमें Internet को समझना है तो हमें सबसे पहले इसकी मूल भावना को समझना होगा। Internet एक Interconnected Network है जो हजारों-करोड़ों कंप्यूटर्स को एक साथ जोड़ करके रखता है, इस Internet के माध्यम से लोग आपस में वार्तालाप कर सकते हैं, कम्युनिकेशन स्थापित कर सकते हैं, व्यापार कर सकते हैं, बातचीत कर सकते हैं यह सारे कार्य Internet के माध्यम से हम कर सकते हैं।

हालांकि यह सभी कार्य करने के तरीके अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन Internet की विशेषताओं के अंतर्गत यह सभी शामिल होते हैं अब हम आपको बताते हैं कि Internet की मुख्य विशेषता क्या है-

  • Internet हमें एक ऐसा मध्यम में उपलब्ध कराता है जो वर्ल्ड वाइड वेब के माध्यम से पूरे विश्व को एक साथ Connect करके रखता है।
  • Internet के द्वारा वेब पेज का Access किया जा सकता है, जिसके द्वारा हम वह सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, जो हमारे पास पहुंचने चाहिए थी।
  • Internet के माध्यम से हम लोगों से बातचीत कर सकते हैं, कम्युनिकेशन स्थापित कर सकते हैं।
  • इन्टरनेट का सबसे पहला कॉम्पोनेंट ईमेल होता है। अर्थात हम ईमेल के द्वारा लोगों से बातचीत कर सकते हैं।
  • इसके पश्चात Internet के द्वारा हम Telenet का इस्तेमाल करते हैं। अर्थात Teletype Network protocall जिसके माध्यम से एक Computer दूसरे Computer को Access करने में सक्षम हो पाता है।
  • इसके अलावा File Transfer Protocol  के माध्यम से Internet जानकारियों तथा अन्य कई प्रकार की सुविधाओं का पैकेज में लाभ पहुंचाता है।
  • यह सभी Internet की सुविधाएं हैं, या कहे तो विशेषताएं हैं जो Internet के माध्यम से हम तक पहुंचती है।

“यदि आप कुछ ऐसा काम कर रहे है जिसकी आपको वास्तव में परवाह है, तो आपको लगातार आगी बढ़ते रहने के लिए बार बार कहने की आवश्यकता नहीं होगी।“

www.bloggingcity.in

Internet कैसे काम करता है?

दोस्तों, Internet के काम करने का तरीका आज का समय दो प्रकार का है। सबसे पहले तो Internet लोगों तक सेटेलाइट के माध्यम से पहुंचाया जाता है, और दूसरा तरीका यह है कि एक Internet, Optical fibers के द्वारा समुद्र के नीचे से अंतरराष्ट्रीय देशों तक पहुंचाया जाता है। क्योंकि अनेकों देश केवल समुद्र के द्वारा ही एक दूसरे से जुड़े हुए हैं।

अब हम आपको आसानी से बताते हैं कि किस प्रकार इंटरनेट कार्य करता है-

यह भी पढ़ें – Helicopter का आविष्कार किसने किया?

Internet यह कार्य करने का तरीका तीन स्तर पर समझा जा सकता है।

  1. सबसे पहले तो फिर बड़ी-बड़ी कंपनियां होती है जिन्होंने महान और विशाल Optical Fiber समुद्र के अंदर बिछा कर रखी है, जिससे पूरी दुनिया के सर्वर अपने आप आपस में कनेक्टेड हो जाते हैं। इसके पश्चात Optical Fiber का इस्तेमाल करके टेलीकम्युनिकेशन कंपनियां आम लोगों तक पहुंचाने के लिए एक बड़े प्लेटफार्म का निर्माण करती है, जैसे कि BSNL, Airtel, Vodafone-Idea, Reliance Jio इत्यादि।
  2. इसके पश्चात Internet को लोगों तक पहुंचाने के लिए छोटी-छोटी कंपनियां या डिस्ट्रीब्यूटर आते हैं जो Internet को टुकड़ों में बांटकर लोगों तक पहुंचाते है, जिसे हम Internet की खरीद से ही समझ सकते हैं कि, कोई व्यक्ति 1GB Internet खरीद रहा है, कोई व्यक्ति 10 GB Internet खरीद रहा है तथा कोई व्यक्ति 100 GB Internet खरीद रहा है। इसी प्रकार Internet को डाटा के तौर पर टुकड़ों में पहुंचाने का कार्य यह डिस्ट्रीब्यूटर करते हैं।
  3. इसके पश्चात आप लोग अपने मोबाइल फोन के द्वारा Internet को Access करते हैं और उसका इस्तेमाल करते हैं। इस प्रकार Internet काम करता है। Internet का इस्तेमाल करने का तरीका Interconnected Network Protocol और Transmission Control Protocol या Internet Protocol के नाम से जानते हैं उस के माध्यम से किया जाता है।

Internet के क्या उपयोग है? – Internet के क्या फायदे हैं?

Internet की कई प्रकार की उपयोग है, जैसे कि-

  • Internet का इस्तेमाल हम सुरक्षा में कर सकते हैं।
  • Internet का इस्तेमाल हम शिक्षा प्राप्त करने में ज्ञान प्राप्त करने में कर सकते हैं।
  • Internet का उपयोग हमारे व्यापार को आगे बढ़ाने में तथा अधिक से अधिक बढ़ाने में कर सकते हैं।
  • पैसा कमाने के लिए Internet का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • पैसे को सुरक्षित करने का कार्य भी Internet के माध्यम से किया जा सकता है।
  • Internet के द्वारा हम एंटरटेनमेंट कर सकते हैं, बिजनेस एडवर्टाइजमेंट कर सकते हैं, बिजनेस कर सकते हैं, ऑनलाइन पैसों का ट्रांजैक्शन कर सकते हैं, किसी भी प्रकार की जानकारी को मात्र चुटकियों में प्राप्त कर सकते हैं।
  • Internet के माध्यम से हम Internet पर उपस्थित थे फाइल्स को डाउनलोड कर सकते हैं, ग्रुप डिस्कशन कर सकते हैं, लोगों से कम्युनिकेशन स्थापित कर सकते हैं, शिक्षा को और प्रभावी बना सकते हैं, प्रेम संबंध स्थापित कर सकते हैं।
  • अखबार न्यूज़ पेपर मैगजीन इन सब की प्राप्ति कर सकते हैं, गेम्स खेल सकते हैं, ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं, नौकरी ढूंढ सकते हैं, नौकरी कर सकते हैं, यह सारे कार्य हम Internet के द्वारा कर सकते हैं।
  • हालांकि केवल यही ऐसे कार्य नहीं है जो Internet के द्वारा किए जा सकते हैं। इनके अलावा और भी कई हजारों ऐसे कार्य है जो Internet के द्वारा आसानी से जा सकते हैं। उन सभी कार्यों को करना आज के समय Internet के द्वारा ही संभव हो सका है।

Internet से कौन से व्यापार कर सकते हैं?

दोस्तों Internet पर हम अनेकों प्रकार के कार्य या व्यापार कर सकते हैं। हमने वैसे तो आपको इसके बारे में नीचे जानकारी दी है, और कुछ व्यापार के नाम बताएं है। लेकिन वह व्यापार केवल व्यापार नहीं है।

इन सब के अलावा भी सैकड़ों ऐसे कार्य है जो आप Internet के माध्यम से कर सकते हैं। हम कोशिश करेंगे कि हम आपको कुछ ऐसे व्यापार के बारे में बताएं जिनके आधार पर आप अपने स्तर से कुछ ऐसे अन्य व्यापार को सोच सके जो Internet पर आधारित हो सकते हैं।

Internet से कौन से व्यापार कर सकते

Internet से किए जाने वाले व्यापार कुछ इस प्रकार है-

  1. Internet के माध्यम से हम हमारी खुद की क्लॉथिंग लाइन शुरू कर सकते हैं।
  2. Internet के द्वारा ड्रॉपशिपिंग का स्टोर ओपन किया जा सकता है।
  3. Internet के द्वारा ऑनलाइन स्टोर ओपन किया जा सकता है, और अपने ऑनलाइन सेल किया जा सकता है।
  4. Internet के माध्यम से फ्रीलांस राइटर, डिजाइनर, डवलपर की नौकरी की जा सकती हैं।
  5. Internet के द्वारा ऑनलाइन कोर्स को पढ़ाया जा सकता है।
  6. Internet के माध्यम से हम हमारी खुद की ऑनलाइन बुक पब्लिश कर सकते हैं।
  7. हमारा खुद का ब्लॉग लिखना शुरु कर सकते हैं।
  8. Internet के माध्यम से बतोर असिस्टेंट की जॉब हम प्राप्त कर सकते हैं।
  9. Internet के माध्यम से हम एक इंसान बनकर लोगों की जिंदगी बदलने की कोशिश कर सकते हैं।
  10. Internet के माध्यम से हम वेबसाइट और एप्लीकेशन बना सकते हैं।
  11. इंटरनेट के माध्यम से हम पॉडकास्ट लाइव कर सकते हैं।
  12. Internet पर हम यूट्यूब वीडियो अपलोड कर सकते हैं।
  13. Internet के माध्यम से हम अपनी एक मार्केटिंग कर सकते हैं।
  14. एफिलिएट मार्केटिंग के अलावा भी हम सब्सक्रिप्शन बॉक्स जारी कर सकते हैं।
  15. ई-कॉमर्स वेबसाइट के माध्यम से हम अपना व्यापार Internet पर ले जा सकते हैं।
  16. Internet के माध्यम से हम सोशल मीडिया मार्केटिंग कर सकते हैं।
  17. Internet के माध्यम से हम ऑनलाइन ट्रांसलेशन की जॉब तथा ऑनलाइन ट्रांसक्रिप्शन की जॉब प्राप्त कर सकते हैं।
  18. Internet के द्वारा मार्केटिंग की जॉब प्राप्त कर सकते हैं।
  19. फ्रीलांस कोडिंग तथा वेब डिजाइन की जॉब प्राप्त करना भी आसान है।
  20. Internet के द्वारा हम फोटोग्राफी का कार्य कर सकते हैं।
  21. बिजनेस कोचिंग का कार्य में Internet के माध्यम से किया जा सकता है।
  22. कॉलेज कंसल्टेंसी का कार्य के द्वारा किया जा सकता है।
  23. Internet के द्वारा हम ट्यूशन पढ़ा सकते हैं।
  24. ऑनलाइन फिटनेस ट्रेनिंग का जॉब कर सकते हैं, या ई-कॉमर्स स्टोर खोल सकते हैं।
  25. वर्चुअल थ्रिफ्ट शॉप ओपन कर सकते हैं।
  26. Internet पर हम Internet डोमेन को बेचने का कार्य कर सकते हैं।
  27. अकाउंटिंग और बुक्कीपिंग का काम कर सकते हैं।
  28. Internet के माध्यम से हम टेलीमार्केटिंग का कार्य कर सकते हैं।
  29. किसी का भी ऑनलाइन पर्सनल असिस्टेंट के कार्य को आसान करने में उनकी मदद कर सकते हैं। Internet के द्वारा डाटा एंट्री का कार्य, स्टॉक और ट्रेडिंग का कार्य कर सकते हैं।
  30. लोगों के लिए ट्रेवल्स प्लानिंग का काम भी हम आसानी से Internet के द्वारा कर सकते हैं।
  31. Interconnectivity के माध्यम से जितने भी कार्य में व्यापार होते हैं वह सभी कार्य में Internet के माध्यम से कर सकते हैं।
  32. इसके अलावा Cyber Security तथा IT Consultants  का काम हम Internet के माध्यम से कर सकते हैं।
  33. ऑनलाइन teaching का कार्य कोचिंग का कार्य, वीडियो प्रोडक्शन, डिजिटल एडवरटाइजमेंट, रिज्यूमे राइटिंग, करियर कोचिंग, ड्रॉपशिपिंग, ऑनलाइन रिक्रूटमेंट, मार्केटिंग कंसलटेंट, ऑनलाइन फंडरेजिंग का कार्य भी हम Internet के माध्यम से कर सकते हैं।
  34. इसके अलावा ऑनलाइन कोर्स को पढ़ाने का कार्य, ऑनलाइन कुकिंग सिखाने का कार्य, यूट्यूब चैनल ओपन करने का काम भी हम Internet के माध्यम से कर सकते हैं।
  35. इसके अलावा वॉइस ओवर वर्क भी हम Internet के माध्यम से कर सकते हैं।

यह सभी कुछ ऐसे कार्य है जो हम आज ही Internet के माध्यम से करना शुरू कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें – धर्म क्या होता है? | सच्चा धर्म कौनसा है?

Internet के क्या नुकसान है? – Disadvantage of Internet?

हमने आपको उपर बताएं हैं कि Internet से हम क्या क्या कर सकते हैं, और Internet किस प्रकार हमारे जीवन को आसान बनाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि Internet के कुछ नुकसान भी होते हैं जो हमें झेलने पड़ते हैं? हर बढ़िया चीज के कुछ न कुछ ऐसे अजीब नुकसान होते हैं जो जाने-अनजाने हमारे जीवन को प्रभावित करते हैं। Internet के भी कुछ नुकसान है जो कि इस प्रकार है-

  • Internet से समय का भयंकर दुरुपयोग हो सकता है। हम हमारा अधिकतर समय इन्टरनेट पर बिता देते हैं या Internet को इस्तेमाल करते हुए बता देते हैं। इसके कारण हमारे अधिकतर समय का कोई खास उपयोग नहीं हो पाता, और कई बार तो हमें स्वयं को ऐसा लगता है कि हम Internet पर अपना जीवन बर्बाद कर रहे हैं, और इसका उपाय बीच में कुछ नहीं दिखता है।
  • Internet का दुरुपयोग लोगों की जान ले सकता है, क्योंकि Internet वास्तव में एक ऐसी आभासी दुनिया है जहां पूरी दुनिया रहती है। यह आभासी दुनिया वास्तविक दुनिया से भी ज्यादा वास्तविक बन चुकी है। इसलिए लोगों को इस बात से ज्यादा फर्क पड़ता है कि इस Internet की दुनिया पर लोगों का व्यवहार कैसा है, लोगों का चरित्र कैसा है, लोग किस प्रकार से अपने आप को अन्य लोगों के समक्ष प्रेजेंट करते हैं। इसी का फायदा उठाकर कई लोग Internet का दुरुपयोग करके वास्तविक दुनिया में आप को हानि पहुंचाने का प्रयास करते हैं।
  • आज के समय Internet अधिकतर क्षेत्रों में फ्री नहीं है। भारत एक ऐसा राष्ट्र है जहां Internet बहुत ही कम कीमतों पर आम जनता को अवेलेबल है। लेकिन फिर भी यह फ्री नहीं है। इसको इस्तेमाल करने के पैसे देने होते हैं। जिन लोगों को Internet के सबसे अधिक आवश्यकता होती है उनके पास कई बार क्रिकेट को इस्तेमाल करने के पैसे नहीं होते, और उन्हें कैसे जैसे करके Internet का इस्तेमाल करना पड़ता है। यह भी अपने आप में Internet का एक नुकसान है।
  • Internet पर जो भी हम कार्य करते हैं तो हमें आमतौर पर अपना एक ऑनलाइन अकाउंट बनाने की आवश्यकता होती है, जहां हम हमारी कई प्रकार की जानकारियां देते हैं। Internet पर अक्सर यह कहावत कही जाती है कि Internet कभी भी 100% सुरक्षित नहीं है। क्योंकि यदि कोई व्यक्ति आपको सही ढंग से टारगेट करता है, तो वह आपकी पूरी जानकारी आपके समक्ष चुरा सकता है, और आप कुछ नहीं कर सकते। इसीलिए यहां पर पर्सनल डाटा की चोरी होने का खतरा हर समय रहता है।
  • लगातार Internet का इस्तेमाल करना हमारे स्वास्थ्य पर गलत प्रभाव डालता है। इसके कारण हमारे बर्ताव में बदलाव आने लगता है। हमारी आंखें दुखने लगती है और हमारे स्वास्थ्य पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

Internet Kya Hai से संबंधित FAQ’s

Internet का पूरा नाम क्या है?

Internet अपने आप में ही पूरा नाम है। लेकिन यह Interconnected Network का शॉर्ट फॉर्म बनाया गया है। इसीलिए हम आमतौर पर इसे Internet के नाम से जानते हैं। हम यह कह सकते हैं कि Internet का पूरा नाम Interconnected Network है।

Internet कहां स्थित है?

Internet मूल रूप से डाटा केंद्रों पर स्थित होता है। Internet को संरक्षित करने का काम डाटा केंद्रों के माध्यम से एक Interconnected Network करता है। यह Interconnected Network बिंदुओं के माध्यम से संचालित होता है, तथा बड़े-बड़े डाटा सेंटर Internet की आत्मा को संरक्षित करते हैं। यह Internet अपने विशाल स्वरूप में एक Interconnected जाल में  फैला हुआ है, जहां से इसे केवल Access किया जा सकता है।

Internet कहां से आता है?

Internet मूल रूप से एक ARPANET के रूप में शुरू हुआ था, और अकादमिक अनुसंधान Network के रूप में कुछ उन्नत एजेंसी जैसे कि अनुसंधान परियोजना एजेंसी ने इस Internet को वित्त पोषित किया था। 1 जनवरी 1983 को डिफेंस डाटा Network ने Transmission Control प्रोटोकोल तथा Internet Protocol Standard के आधार पर Internet को अपने अस्तित्व में लाने का कार्य किया था। Internet Internet प्रोटोकोल तथा Transmission Control प्रोटोकोल से आता है।

Internet का दूसरा नाम क्या है?

Internet का दूसरा नाम अंतरजाल हो सकता है। यदि हम हिंदी भाषा के बारे में बात करें तो Internet का दूसरा नाम अंतरजाल हो सकता है, अन्यथा अंतरराष्ट्रीय अंतरजाल या इंटर Network Internet का दूसरा नाम हो सकता है।

डाटा कौन बनाता है?

डाटा को Internet बनाता है। Internet मूल रूप से Interconnectivity के द्वारा बहुत सारे Computer Networks का एक बड़ा जाल होता है। इस जाल के अंतर्गत ही Computer अपनी गणना क्षमता के द्वारा डाटा का निर्माण करता है। इसे हमें भी समझ सकते हैं कि Computer अपने आप डाटा बनाता है और Internet के द्वारा डाटा का Access कर सकते हैं।

Internet से क्या कर सकते हैं?

आज के समय Internet ने आधुनिक दुनिया को इतना आसान बना दिया है कि Internet के माध्यम से हजारों काम किए जा सकते हैं। जैसे कि हम धरती के एक कोने पर बैठे हुए धरती के दूसरे कोने पर स्थित व्यक्ति से बात कर सकते हैं। वीडियो कॉल कर सकते हैं। चैटिंग कर सकते हैं। ईमेल भेज सकते हैं, लोगों के साथ व्यापार कर सकते हैं। पैसों का लेन देन कर सकते हैं।
 
वह दुनिया जहां शायद हम जा भी नहीं सकते उनके बारे में हम वह सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, जो आज से पहले संभव नहीं था। इसके अलावा ब्रह्मांड के रहस्य के बारे में हम Internet के माध्यम से जान सकते हैं। पृथ्वी के भूगर्भ में चल रही घटनाओं को हम Internet के माध्यम से देख सकते हैं। तारामंडल की घटनाओं को समझ सकते हैं। अंतरिक्ष की घटनाओं की गणना कर सकते हैं। एक प्रकार से Internet के द्वारा किए जाने वाले कार्य इतने अधिक है कि उन्हें इस एक जवाब में उतारा भी नहीं जा सकता है।

निष्कर्ष: Internet kya hai?

आज के लिए हमने आपको बताया गया है तथा Internet के संबंध में हमने आपको ब्बताया कि Internet kya hai और इन्टरनेट के बारे में विशेष जानकारी प्रदान की है। साथ ही हमने आपको यह भी बताया कि Internet की खोज किसने की। हम आशा करते हैं कि आज का हमारा यह लेख पढ़ने के पश्चात आप जान पाएंगे कि Internet kya hai, Internet का क्या उपयोग है।

यदि आप कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 2521

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *