Helicopter Ka Avishkar Kisne Kiya

Helicopter Ka Avishkar Kisne Kiya: दोस्तों पुराने समय से ही हमें एक ऐसे वायुयान की आवश्यकता रही है जो एरोप्लेन की तरह दौड़ते हुए ना उड़े, बल्कि एक ही स्थान पर खड़े-खड़े उड़ सके और खड़े-खड़े ही लैंड कर सके।

इसके लिए Helicopter का आविष्कार किया गया था। एक टरबाइन इंजन के साथ Helicopter के द्वारा हम 25,000 फीट की ऊंचाई पर भी उड़ सकते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस महान अविष्कार के अविष्कारक कौन थे? यदि आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं।

क्योंकि आज हम आपको बताने वाले हैं कि Helicopter Ka Avishkar Kisne Kiya था, Helicopter के क्या उपयोग है, Helicopter कितने प्रकार का होता है, दुनिया का पहला Helicopter कौन सा था, और Helicopter के बारे में हम आपको कुछ रोचक जानकारी भी उपलब्ध कराएंगे।

तो चलिए शुरू करते हैं-

Helicopter क्या है? – What is Helicopter?

मित्रों, Helicopter एक ऐसा वायुयान है जो एक जगह पर खड़े खड़े उड़ान भर सकता है, और उड़ान समाप्त करके उसी जगह लैंड भी कर सकता है। ऐसा वायुयान Helicopter कहलाता है।

आपको याद होगा कि 17 दिसंबर 1903 को पहला Airplane  Invent किया गया था। लेकिन Airplane,  जो दौड़ कर अपनी गति प्राप्त करके और उस गति का फायदा उठाकर, वायु में यात्रा करता था, उसे जमीन पर आने के लिए भी वैसे ही कुछ गति करनी होती थी। Airplane अपनी स्पीड धीमी करते हुए जमीन पर लैंड करता था।

लेकिन हमारी समस्या कुछ ऐसी परिस्थितियों से हमेशा रही है कि हमें एक ऐसे यान की आवश्यकता है जो बिना दौड़े बस एक ही स्थान पर खड़े खड़े उड़ सके, साथ ही बिना भागे लैंड भी कर सके। इसके लिए Helicopter का आविष्कार जरूरी था। Helicopter एक ऐसा वायुयान है जो एक ही स्थान से बिना भागे लैंड भी कर सकता है और उड़ान भी भर सकता है। यह अपने आप में एक आकर्षक अविष्कार था।

भारतीय पौराणिक ग्रंथों में Helicopter का उल्लेख

भारतीय पुरातन समाज में ऐसे वायु यान के बारे में कई बार चर्चा की गई है। भारतीय पौराणिक कथाओं में पुष्पक विमान को भी एक Helicopter माना गया है। क्योंकि यह मन की गति से संतुलित होने वाला ऐसा ही एक यान था। इसमें किसी भी प्रकार की मोटर का इस्तेमाल नहीं होता था। यह देवताओं का यान माना गया है। इस यान को रावण ने अपने ही भाई कुबेर से इसे छीन लिया था।

लेकिन आधुनिक युग में सबसे पहला वायुयान मोटर से बनाया गया था, जिसे एक अमरीकी-रूसी वैज्ञानिक ने बनाया था। उसने इस वायुयान को 20 सेकंड तक उड़ा कर दिखाया था।

Helicopter Ka Avishkar Kisne Kiya? – Helicopter का आविष्कार कब हुआ?

मित्रों, Helicopter का आविष्कार एक अमेरिकी और रूसी मूल के व्यक्ति तथा वैज्ञानिक इगोर सिकोरस्की ने किया था। इसके साथ साथ उन्होंने इस Helicopter का अविष्कार 14 सितंबर 1940 को किया था। यह आधुनिक इतिहास का पहला ऐसा Helicopter था जो रोटर मशीन के द्वारा प्रायोगिक तरीके से चल सकता था। इसका नमूना अमेरिका के स्ट्रैटफोर्ड नगर में दिखाया गया था।

इसमें इगोर सिकोरस्की ने पहली बार Helicopter हवाई यान उड़ा कर दिखाया था। उस Helicopter का नाम VS – 306 था। हालांकि यह मात्र कुछ मिनटों के लिए उड़ा था, लेकिन इसके कुछ महीनों बाद ही इसे इगोर सिकोरस्की ने अनेकों सुधार करके कई बड़ी-बड़ी यात्राएं इस Helicopter से पूरी की थी। इगोर सिकोरस्की ने सन 1941 में अमेरिकी सेना के लिए भी एक सैन्य Helicopter तैयार करके दिया था।

Helicopter के क्या उपयोग है?

Helicopter के क्या उपयोग है?
  • Helicopter के द्वारा वायु यात्रायें पूरी की जा सकती है।
  • Helicopter की मदद से ऐसे दुर्गम स्थानों पर कुछ ही समय में पहुंचा जा सकता है जहां बड़े या छोटे, किसी भी विमान से नहीं पहुंचा जा सकता है।
  • Helicopter एक बार में 10 से अधिक लोगो को अपने अन्दर बैठा सकता है।
  • Helicopter की मदद से एक साथ 3 बड़े हाथियों को उड़ाकर एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाया जा सकता है।
  • Helicopter की मदद से प्राकृतिक आपदा जैसे आगजनी, भूकंप, बाढ़, भूस्खलन इत्यादि स्थानों पर शीघ्रता से बचाव कार्य संपन्न किये जा सकते है।
  • Helicopter का इस्तेमाल सैन्य सुरक्षा कारणों में भी किया जाता है।
  • Helicopter का उपयोग मनोरंजन में भी किय जाता है।
  • आक्रामक हवाई हथियार के रूप से Helicopter का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • ट्रांसपोर्ट के लिए भी Helicopter का इस्तेमाल किया जाता है।
  • मेडिकल इमरजेंसी के अंतर्गत भी Helicopter का इस्तेमाल होता है।

यह भी पढ़ें –Top 10 Bath Soaps In India

दुनिया का पहला Helicopter कौन सा था?

दुनिया का पहला Helicopter आधुनिक इतिहास में VS-300 था। यह Helicopter इगोर सिकोरस्की के द्वारा तैयार किया गया था, तथा इसका निर्माण सन 1939 में हो गया था। लेकिन मात्र कुछ महीनों में ही कई सुधार करके 1940 में इस Helicopter के द्वारा कई लंबी-लंबी यात्राएं पूरी की गई।

Helicopter के कुछ रोचक तथ्य

Helicopter अत्यंत ही रोचक वायुयान है, और ऐसा माना जाता है कि लियोनार्डो द विंची ने सबसे पहले इसकी एक तस्वीर बनाई थी, जिसमें उन्होंने दिखाया था कि वह स्वयं एक Helicopter जैसे दिखने वाले यंत्र के अंदर बैठे हुए हैं और वह यंत्र उन्हें हवा में उड़ा रहा है।

  • एक Helicopter किसी भी अन्य वायुयान की तुलना में अधिक फुर्तीला हो सकता है।
  • इसे आवश्यकता के अनुसार किसी भी समय, किसी ही दिशा में आसानी से घुमाया जा सकता है।
  • Helicopter में रोटर एक मजबूत हिस्सा होता है जो पूरे Helicopter की आत्मा होती है।
  • यह रोटर Helicopter को उड़ने, उठाने, और तेजी से आगे बढ़ने में मदद करता है।
  • Helicopter के सर्वाधिक स्पीड 400 किलोमीटर प्रति घंटे से भी अधिक दर्जी की जा चुकी है।
  • एक Helicopter बिना लैंडिंग के आमतौर पर 2000 किलोमीटर तक उड़ाया जा सकता है।
  • जैसा कि हमने आपको बताया कि एक रोटर Helicopter की आत्मा होती है, क्योंकि यदि किसी कारण Helicopter का इंजन बंद पड़ जाता है तो Helicopter का रोटर उस Helicopter को धीरे-धीरे करके जमीन पर ले आता है। जिसके कारण Helicopter एक झटके में जमीन पर आकर नहीं गिरता है।
  • आज के समय पूरी दुनिया में 45000 से भी ज्यादा सैन्य Helicopter अवेलेबल है।
  • दुनिया का सबसे बड़ा Helicopter का नाम MI-26 है जिसमें पायलट तो बैठता ही है बल्कि वह अन्य 5 लोगों को और बैठा सकता है।
  • यदि Helicopter को किसी भी प्रकार से अतिरिक्त धन प्राप्त हो जाए तो यह एक महासागर को पार कर सकता है।

यह भी पढ़ें – Cockroach ke kitne pair hote hain?

Helicopter कितने प्रकार के होते हैं?

दोस्तों, अपने कई प्रकार के Helicopter देखे होंगे जो विभिन्न कार्यों में इस्तेमाल करते हैं लेकिन उन सभी का यदि हम वर्गीकरण करें तो उन्हें मूल रूप से पांच भागों में बांट सकते हैं, और उनके नाम कुछ इस प्रकार होंगे-

#01. Attack Helicopter या Defense Helicopter

Attack Helicopter या Defense Helicopterआमतौर पर सेनाओं के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। यह युद्ध में आक्रमण करने में या युद्ध नीति का प्रदर्शन करने में इस्तेमाल किए जाते हैं। यह आमतौर पर किसी भी Helicopter से कई गुना महंगे होते हैं, और किसी भी Helicopter की तुलना में अधिक ऊंचाई पर उड़ सकते हैं। इनका खोल/कवच किसी ने Helicopter की तुलना में सबसे ज्यादा मजबूत होता है।

Helicopter कितने प्रकार के होते हैं?

#02. Travel Helicopter

Travel Helicopter आमतौर पर सवारियों को बिठाकर Helicopter में भ्रमण कराने के काम में आते हैं। यह प्रतिदिन हर घंटे के ₹3000 से ₹8000 तक चार्ज कर सकते हैं। हालांकि Helicopter की प्रतिघंटे की कीमत इस पर निर्भर करता है कि Helicopter कौन सा है, और कौन सी सुविधाएं दे रहा है।

#03. Private Helicopter

Private Helicopter किसी व्यक्ति विशेष या किसी संस्था के द्वारा अधिकृत किया जाता है, और वे जैसा चाहे उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। बशर्ते वे उसका इस्तेमाल एक अटैक Helicopter के रूप में ना करें।

#04. Transport Helicopter

Transport Helicopter का इस्तेमाल आमतौर पर बड़े-बड़े Helicopter के रूप में किया जाता है। उनकी सहायता से बड़े सामग्री या अन्य कोई वस्तु, टैंकर, कंटेनर, जीव एक स्थान से दूसरे स्थान पर ट्रांसपोर्ट किए जाते हैं। Transport Helicopter में उड़ने की और वजन उठाने की क्षमता बड़ी कमाल की होती है, क्योंकि यह अत्यधिक वजन उठाने में सक्षम होते हैं।

यह भी पढ़ें – चाँद और धरती के बीच की दुरी कितनी है?

#05. Rescue Helicopter

Rescue Helicopter का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है ताकि प्राकृतिक आपदा के दौरान लोगों का जीवन बचाया जा सके। न केवल प्राकृतिक आपदा बल्कि मानव जनित आपदा उसे भी बचाने के लिए Helicopter का इस्तेमाल किया जाता है।

एक ऐसी परिस्थिति जिसमें किसी भी व्यक्ति या व्यक्तियों के समूह की जान जा सकती है, और उनकी जान बचाने के लिए Helicopter का इस्तेमाल करना अनिवार्य हो जाता है, तो ऐसे Helicopter को Rescue Helicopter कहा जाता है। इनमें उड़ने की रास्ता बदलने की उड़ान भरने की तेजी सर्वाधिक होती है।

Helicopter Ka Avishkar Kisne Kiya संबंधित FAQ’s

Helicopter का आविष्कार कब और किसने किया था?

Igor Sikrosky, Arthur M। Young, Paul cornu ने Helicopter का आविष्कार 14 सितंबर 1939 को किया था। यह विमान कुछ मिनटों के लिए उड़ा था, उसके पश्चात जमीन पर आ गया था। लेकिन वह पहला समय था जब किसी Helicopter ने उड़ान भरी थी।  यह Helicopter रोटर वाला Helicopter था।

Helicopter का जनक कौन है?

Helicopter के जनक का नाम Igor Sikrosky, Arthur M। Young, Paul cornu है। इन तीनों ने ही मिलकर Helicopter का आविष्कार किया था। इसलिए इन तीनों को Helicopter का जनक कहा जाता है।

Helicopter रात में क्यों नहीं होता?

Helicopter रात में क्यों नहीं होता, इस सवाल का जवाब अत्यंत ही आसान है। क्योंकि आमतौर पर Helicopter पुराने समय में रात में उड़ने लायक परिस्थिति में नहीं होते थे। क्योंकि उस समय नाइट विजन टेक्नोलॉजी का डेवलपमेंट नहीं हुआ था।
इस कारण आमतौर पर दिशा कापता लगाना भी कई बार मुश्किल हो जाता था। लेकिन जब से नाइट विजन और रेडिएटिव किरणों की मदद से जीपीएस ने अपना महत्वपूर्ण योगदान निभाया है, तब से Helicopter रात में भी उड़ते हैं।

Helicopter 1 घंटे में कितना तेल पीता है?

Helicopter आमतौर पर 1 लीटर ईंधन पर 3 किलोमीटर से 4 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है इसलिए यदि एक Helicopter 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी उड़ता है तो आप समझ सकते हैं कि उसमें कितना इंतजार होगा।

Helicopter का 1 दिन का किराया कितना होता है?

मित्रों, Helicopter का 1 दिन का किराया Helicopter के प्रकार पर निर्भर करता है। लेकिन आमतौर पर Helicopter का 1 दिन का किराया ₹3000 से ₹8000 के मध्य होता है।

Helicopter में कितने पायलट होते हैं?  

आमतौर पर Helicopter में एक ही पायलट होता है। लेकिन कभी-कभी Helicopter का आकार और उसका आर्डर बड़ा होने पर उसमें दो पायलट मिठाई जाते हैं, क्योंकि उस Helicopter को संभालने के लिए दो पायलट की आवश्यकता होती है। इसलिए हम यह कह सकते हैं कि एक Helicopter में एक से दो पायलट हो सकते हैं।

भारत का पहला Helicopter कब आया?

दोस्तों, भारत ने पहला Helicopter आधुनिक भारत में सन 1984 में आने की बात हुई थी, अर्थात इसे बनाने की बात शुरू हो गई थी। हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने Helicopter बनाने का कार्य शुरू किया था, और हमारे पहले Helicopter का नाम ध्रुव था। भारत के पहले Helicopter ने 1992 में पहली बार उड़ान भरी।

निष्कर्ष: Helicopter ka avishkar kisne kiya?

दोस्तों, आज के लेख में हमने आपको बताया कि Helicopter Ka Avishkar Kisne Kiya। इसके अलावा हमने Helicopter से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में भी आपको विशेष जानकारी उपलब्ध कराई है।

हम आशा करते हैं कि आज का हमारा यह लेख पढ़ने के पश्चात Helicopter Ka Avishkar Kisne Kiya इसके बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको मैंने किसी लेख को पढ़ने की आवश्यकता नहीं होगी। यदि आप कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 1220

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *