Ebook Kaise Likhe

eBook kaise likhe? आज का हमारा आर्टिकल काफी अलग है। खास तौर पर यह उन लोगों के लिए बहुत ज्यादा लाभदायक है, जो भी ऑनलाइन किताबें बनाकर या बेचकर पैसा कमाना चाहते हैं। आज का हमारा आर्टिकल है ई बुक कैसे लिखें (ebook kaise likhe). 

आज तक आपने बहुत सारी किताबें पढ़ी होंगी बचपन से ही हमें किताब पढ़ना सिखाया जाता है। हमारी पूरी स्कूल और कॉलेज लाइफ में हमें कई सारी किताबें पढ़नी होती हैं।  इसके अलावा भी जिन लोगों को बुक्स पढ़ने का शौक है वह स्कूल या फिर सिलेबस से रिलेटेड किताबों के अलावा भी बहुत सारी किताबें पढ़ते हैं।

ऐसे कई सारे लोग भी होते हैं जिन्हें खुद की बुक निकालने का शौक होता है लेकिन पब्लिशर हर किसी की बुक पब्लिश नहीं कर सकता इसलिए ऐसे जो भी लोग जो अपनी खुद की बुक निकालना चाहते हैं उनके लिए भी आज का हमारा आर्टिकल काफी महत्वपूर्ण होने वाला है।

आज के हमारे आर्टिकल ‘ebook kaise banaye’ में हम आपको बताएंगे कि ebook (ई बुक) कैसे बनाएं (ebook kaise banaye), आप कैसे बुक बना सकते हैं (ebook kese bana sakte hai), आप इ बुक्स कैसे देख सकते हैं, (ebook kaise dekh sakte hai), आप ebooks कैसे लिख सकते हैं (ebook kaise likh sakte hai) इत्यादि।

आज के आर्टिकल ‘ebook kaise banaye’में हम आपको डिटेल में बताएंगे कि ई बुक होती क्या है(ebook kya hoti hai) , ebooks ke fayde  क्या है, ebooks को डाउनलोड कैसे किया जाता है। 

Telegram पर हमारे दोस्त बनिये😊

अगर आपको ebook banani  ho तो आप कैसे बना सकते हैं या बेच सकते है । इन सभी चीजों के बारे में जानकारी आज आपको  हमारे आर्टिकल ebook kaise banaye के माध्यम से मिलने वाली है।

तो चलिए शुरू करते हैं। 

ईबुक क्या है?
ईबुक क्या है?

ईबुक क्या है? | what is ebook 

Ebook (ई बुक) का मतलब होता है इलेक्ट्रॉनिक बुक। यह वह बुक होती हैं जिसमें पेज का प्रयोग नहीं होता है, ना ही यह हमें किसी बुक स्टोर पर  उपलब्ध होगी।  ebooks को हम ऑनलाइन  यानी इंटरनेट के माध्यम से ही पढ़ सकते हैं या खरीद सकते हैं।  कई सारे ऐसे सॉफ्टवेयर होते हैं जिनकी मदद से हम इबुक्स पढ़ सकते हैं। 

Ebooks कैसे पढ़ सकते हैं?
Ebooks कैसे पढ़ सकते हैं?

Ebooks कैसे पढ़ सकते हैं? | how to read ebooks 

e-books जरूर एक अलग तरह की बुक्स है जिसमें आप इसको हाथ में नहीं ले सकते, ना ही आप इसके पेज पलट सकते हैं, ना ही आप इसके पेज फाड़ सकते हैं, ना ही यह पानी में गिरने से ख़राब हो जाएगी। इस तरह के रिस्क तो आपको बिल्कुल नहीं है। लेकिन सवाल है कि यह कहां से पढ़ी जाती है। तो  ebooks को आप अपने मोबाइल, अपने कंप्यूटर, अपने लैपटॉप, टेबलेट  इत्यादि पर पढ़ सकते हैं।  

जिस तरह से आप गूगल पर सर्च करके कोई भी जानकारी लेते हैं और उसको अपने फोन या कंप्यूटर है के माध्यम से ही पढ़ते हैं उसी तरह ebooks भी  आप आसानी से ऑनलाइन पढ़ सकते हैं अपने मोबाइल, कंप्यूटर या टेबलेट के माध्यम से। 

बस इसे पढ़ने के लिए आपको एक सॉफ्टवेयर डाउनलोड करना पड़ेगा क्योंकि ज्यादातर ebooks पीडीएफ (pdf )फॉर्मेट में होती हैं और हर किसी के मोबाइल में कंप्यूटर में पीडीएफ रीडर सॉफ्टवेयर नहीं होता है, तो आपको बस एक पीडीएफ रीडर सॉफ्टवेयर जैसे की adobe pdf reader  या किसी भी कंपनी का पीडीएफ रीडर सॉफ्टवेयर डाउनलोड करना है जो कि आपको आसानी से फ्री में मिल जाएगा और बस उसके बाद आप जब भी की बुक पढ़ना चाहें, आप ऑनलाइन सर्च करके उस बुक को अपने पीडीएफ रीडर की मदद से आराम से पढ़ सकते हैं।

कई सारी ebooks  तो फ्री में भी उपलब्ध होती हैं जिसे आप आसानी से मुफ्त में ही पढ़ सकते हैं उसके लिए आपको किसी भी तरह के चार्जेस देने की जरूरत नहीं है बस आपके पास है एक पीडीएफ रीडर सॉफ्टवेयर होना चाहिए।   और कई सारी बुक ऐसी भी होती हैं जिसके लिए आपको पैसे देने होते हैं तो आप  उसका पेमेंट ऑनलाइन करके उसको डाउनलोड कर सकते हैं और आसानी से और आराम से पढ़ सकते हैं। 

इसके अलावा भी कई सारी ऐसी  वेबसाइट होती हैं जो आपको मुफ्त में ही बुक्स पढ़ने की सुविधा देती हैं तो वहां पर भी आपको कोई भी पैसा खर्च करने की जरूरत नहीं है आप अपने समय अनुसार कभी भी उनसे वेबसाइट पर जा सकते हैं और वहां से फ्री में ही बुक पढ़ सकते हैं हालांकि आप उसको डाउनलोड नहीं कर सकते हैं। 

कई सारी ऐसी वेबसाइट सभी होती हैं जो आपसे हर महीने कोई फीस चार्ज करती है और उसकी एवज में वह आपको कई सारे फेमस राइटर्स और लेटेस्ट रायटर्स की ebooks  पढ़ने की परमिशन देती है। तो ऐसी साइट पर आपको मेंबरशिप फीस देनी होगी और उसके बाद आप अनलिमिटेड इबुक्स पढ़ सकते हैं।  

Ebook के क्या फायदे हैं?
Ebook के क्या फायदे हैं?

Ebook के क्या फायदे हैं? | eBook ke benefits 

वैसे तो e-books के बहुत सारे फायदे हैं अब तक तो आप समझ ही गए होंगे  हमारे ऊपर बताए हुए तथ्यों के बारे में पढ़कर लेकिन फिर भी हम आपको एक पूरी लिस्ट  बताते हैं जिससे आपको भी आईडिया होगा कि e-books किए क्या-क्या फायदे हैं।  तो चलिए देख लेते हैं। 

  • इसे आप घर पर बैठकर भी खरीद सकते हैं। 
  • इसे आप कहीं पर भी ले जा सकते हैं और उसके लिए आपको अलग से कोई बैग लेने की जरूरत नहीं है या फिर आपको अलग से बाहर होने की जरूरत नहीं है। 
  • आप इसे कहीं पर भी पढ़ सकते हैं। 
  • पढ़ते टाइम अगर आपको कोई important  पेज या लाइन मार्क करनी है तो आपको पेन या मार्केट लेकर बैठने की जरूरत नहीं है आपके जो इंपॉर्टेंट माफ कर सकते हैं लाइन को भी इंपॉर्टेंट माफ कर सकते हैं। 
  • यह काफी किफायती  कीमत में आपको मिल जाती है क्योंकि इसे बेचने के लिए उन लोगों को कोई  पेपर का इस्तेमाल नहीं करना पड़ रहा है और खरीदने  के बाद आपको भी इस को स्टोर करने के लिए कोई जगह नहीं ढूंढने पड़ रही इसलिए काफी  किफायती दाम पर आपको मिल जाती है। 
  • E-books में आपको यह भी चिंता करने की जरूरत नहीं है कि यह पानी से गीली हो जाएगी यहां पेज फट जाएगा। 
  • कई सारी  ऐसी फेमस बुक्स  भी होती हैं  जिन्हे  अगर आप खरीदना चाहते हैं या पढ़ना चाहते हैं तो आपको काफी महंगी पड़ सकती है लेकिन  अगर आप उसकी ई बुक लेते हैं तो आपको वह काफी कम दाम में भी पड़ जाती है।  यानी बुक्स के जरिए आप लेटेस्ट और फेमस किताबें भी आसानी से पढ़ लेते  हैं। 
  • आप इसके पेज को जूम करके भी देख सकते हैं। 
  • आप अपने  जगह  और लाइट  के हिसाब से  इस की ब्राइटनेस को कम या ज्यादा कर सकते हैं। 
  • Ebooks का इस्तेमाल करके आप प्रकृति को भी बचा रहे हैं क्योंकि पेड़ नहीं काटने पड़ रहे हैं पेज के लिए। 
  • आप अपने दोस्तों में भी इसको आसानी से शेयर कर सकते हैं।  जैसे  आम किताबों में आप एक दोस्त को एक ही बार में कोई किताब दे सकते हैं वैसे इसमें कोई सीमा नहीं है। 
  • कई सारी ऐसी भी इबुक्स होती हैं जिसमें वीडियो के लिंक या फिर इमेजेस भी होती हैं जिसे भी पढ़ कर आप आसानी से बात समझ सकते हैं या कुछ सीख सकते हैं। 
  • आप इसमें कोई भी शब्द आसानी से ढूंढ सकते हैं आपको बार-बार पेज पलटने की यहां मार्क करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
  • इसका सबसे बड़ा फायदा है टाइम।  जैसे ही कोई किताब रिलीज हुई उसके 1 घंटे से भी कम समय में आप चाहे तो आप भी उसे पढ़ सकते हैं या खरीद सकते हैं इसके लिए आपको इंतजार नहीं करना पड़ेगा कि आपके देश में आपके पास के बुक्स स्टोर पर कब आएगी।  तो इस तरह से इबुक्स टाइम की पाबंदी को भी कम कर देती है या बिल्कुल समाप्त कर देती है। 
  • अगर हम बात करें आम किताबों की, तो उसमें हमें चुनना पड़ता है कि हम कौन सी किताब ले सकते हैं? क्या हमारे बुक शेल्फ में जगह है? कहीं ऐसी ही सब्जेक्ट की किताब हमने पहले तो नहीं ली? यानी कि हमें काफी सारा एनालिसिस करने के बाद ही किताब लेने के बारे में सोचना पड़ता है लेकिन e बुक इस समस्या भी समाधान कर देती है क्योंकि वह पहले से ही एक तो कम कीमत पर मिल जाती है दूसरी उसको स्टोर करने की भी कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि उसको हम फिजिकल कॉपी में तो ले नहीं रहे हैं।
  • साथ ही साथ वह हमेशा आपके साथ रहेगी क्योंकि एक बार डाउनलोड करने के बाद तो जब तक आप खुद डिलीट नहीं करेंगे तब तक तो आपके पास ही है। 
Ebook कैसे लिखे?
Ebook कैसे लिखे?

Ebook कैसे लिखे? | eBook kaise likhe 

वैसे तो ebooks लिखने का प्रोसेस, उसी तरह का है जिस तरह आप एक आम बुक लिखते। लेकिन फिर भी इसमें कुछ थोड़ी जो अलग बातें हैं वह भी हम आपको बताएंगे। 

देखिए जैसे कि आम जिंदगी में कई सारे ऐसे लोग होते हैं जिन्हें लिखने का बहुत शौक होता है,  वह लिखते भी हैं लेकिन जब बात आती है पब्लिश करने की तो उनकी बुक किसी न किसी कारण की वजह से पब्लिश नहीं हो पाती है। या तो वह खुद कोशिश नहीं करते हैं, या किसी पब्लिशर के पास अपनी बुक लेकर जा रहे हैं तो भी बड़े पब्लिशर्स उनको प्रोत्साहित नहीं करते, उनकी बुक को तवज्जो नहीं देते और भी ऐसी कई सारी बाधाएं हैं । 

अब पहले से ही स्थापित या फेमस राइटर की बुक के बारे में पता लगाना तो बहुत ही आसान है लेकिन ऐसे इंसान की बुक के बारे में पता लगाना जिसने की अपनी जिंदगी में पहली बार कोई किताब लिखी हो, काफी मुश्किल काम है। पहले ही बुक पब्लिश करने में कई सारी बाधाएं हैं और उसके बाद बुक पब्लिश होने के बाद भी उसको अगर इतना ज्यादा अच्छा रिस्पांस नहीं मिलता तो जो राइटर है उसका मन और मनोबल दोनों ही काफी कमजोर पड़ जाते हैं।

e-book की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे पब्लिश करने के लिए आपको कोई पहले से स्थापित या फेमस  राइटर होने की जरूरत नहीं है  ना ही आपको किसी पब्लिशिंग हाउस के चक्कर लगाने पड़ेंगे ना ही आपको यह इंतजार करना पड़ेगा कि कब लोग आपकी बुक के बारे में जानेंगे कब खरीदेंगे, आपकी बुक का रिस्पांस कैसा होगा? 

ऐसा इसलिए क्योंकि ईबुक ने इस प्रक्रिया को काफी आसान कर दिया है आज कोई भी इंसान अपनी बुक लिख सकता है और उसको ही बुक के माध्यम से पब्लिक भी कर सकता है और यहां तक कि वह यह भी पता लगा सकता है कि उसकी सेल्स कितनी हो रही है लोगों में उसकी कितनी लोकप्रियता है और  तो और किसी कारणवश  उसकी सेल्स में कमी  आई है तो वह राइटर खुद भी उसका प्रचार प्रसार कर सकता है कई सारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर, वह भी बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के।  क्यों है ना यह बहुत ही मजेदार और अच्छी बात। 

YouTube video

आज का समय थोड़ा बदल गया है लोगों के पास इतना समय नहीं होता कि वह बहुत बड़ी और बहुत मोटी मोटी किताबे जाकर खरीदें और फिर उसको पूरा पढ़े। इसलिए आज के जमाने के हिसाब से भी इबुक्स बहुत ही प्रचलित और महत्वपूर्ण भी है। 

 तो चलिए बिना किसी देरी के हम आपको बता देते हैं कि कैसे आप अपनी बुक पब्लिश कर सकते हैं या बना सकते हैं।  उसके लिए आपको इन कुछ स्टेप्स को फॉलो करना होगा। 

1. अच्छा आईडिया चुने

Ebooks लिखने के लिए आपको सबसे पहले एक बहुत ही अच्छे और अलग से आईडिया के बारे में सोचना होगा।  आपको यह देखना बहुत जरूरी है कि आपकी ebook का आईडिया सिर्फ ऐसा ना हो कि आपके रीडर्स को उत्साहित करें लेकिन वह ऐसा भी हो कि वह आपके इंटरेस्ट और आपके उद्देश्य की पूर्ति करता हो।  क्योंकि आख़िर में आपको ही यह बुक लिखनी है तो इसलिए यह बहुत जरूरी हो जाता है कि आपको ऑडियंस के साथ-साथ यह ध्यान जरूर रखना है कि आपका उस टॉपिक  या सब्जेक्ट में इंटरेस्ट है या नहीं। 

अगर आपने ऐसा कोई सब्जेक्ट ले लिया जिसके बारे में आप को ना तो कोई नॉलेज है ना ही आपको इंटरेस्ट है तो बहुत जल्द ही आपकी ये बुक बंद हो जाएगी यानी इस पर काम करना ही बंद कर देंगे।  इसलिए सबसे जरूरी यह है कि आपको अपने इंटरेस्ट को ध्यान में रखना है और देखना है कि आपकी जिस  विषय यहां सब्जेक्ट में रूचि है उस ज्ञान को आप कैसे दूसरे लोगों की मदद करने के उद्देश्य से उपयोग कर सकते हैं। 

दूसरी चीज यह है कि आपको यह भी ध्यान रखना है कि आपका जो टॉपिक है उसकी मार्केट में डिमांड कैसी है क्या लोग उसके बारे में जानना चाह रहे हैं? क्या लोगों में उत्सुकता है उस टॉपिक को लेकर?  यह सब बातें भी आपको जानना जरूरी है । अब इस चीज का पता आप सोशल मीडिया के माध्यम से लगा सकते हैं कि लोग किस बारे में सर्च कर रहे हैं? किस टॉपिक की मार्केट में ज्यादा डिमांड है  इत्यादि।  

2. ईबुक की आउटलाइन बनाना

आपको अपनी e book  का पूरा स्ट्रक्चर यानी आउटलाइन तैयार करनी है। यानी कि आपको किस तरह से फॉर्मेटिंग करनी है , कितने पैराग्राफ देने हैं, कौन से टिप्स देने हैं, फायदे नुकसान बताने हैं क्या, लोगों के द्वारा पूछे गए सवाल शामिल करने हैं या नहीं, इमेजेस के इस्तेमाल करना है या नहीं  इत्यादि। आखिर में आप एक  निष्कर्ष यानि summary  भी ऐड कर सकते हैं। 

आप हमारे यहां पर बताए हुए कुछ स्टेप्स को भी फॉलो कर सकते हैं जिनसे आपको मदद मिलेगी अपनी ई बुक की आउटलाइन बनाने में। 

  • इसके अलावा भी आप इसमें यह देख सकते हैं कि आप अलग-अलग टॉपिक्स का क्या नाम रखेंगे। आपको ऐसे नाम रखने चाहिए जो लोगों का ध्यान आकर्षित करें। 
  • आप उन सब सवालों को भी लिख सकते हैं जिनके भी उत्तर आप अपने ऑडियंस को बताना चाह रहे हैं।  इससे आपका काम काफी आसान हो जाएगा। 
  • आपको ज्यादा से ज्यादा रिसर्च करनी होगी।  डाटा इकट्ठा करने होंगे और इसके अलावा भी कई सारे एडिशनल सोर्स यानी एक्स्ट्रा मटेरियल भी आपको इकट्ठा करना होगा। 
  • यहां पर आपको यह भी सुनिश्चित करना होगा कि आप अपनी e बुक्स  की लेंथ कितनी रखना चाहते हैं। 
  • आपको यह भी देखना होगा कि आप अपनी बुक का थीम क्या रखना चाहते हैं। 
  • यह सब चीजें करने से आपको पूरा आईडिया हो जाएगा क्या आपको कौन कौन से टॉपिक से ऐड करने हैं आपको किन किन चीजों के बारे में बात करनी है।  एक आउटलाइन बनाने का फायदा यह होता है कि आप अपने E-book के प्राथमिक उद्देश्य से भटकते नहीं हैं और एक ही डायरेक्शन पर काम करते हैं।
  •  आपको कीवर्ड सर्च का भी ध्यान रखना चाहिए।  क्योंकि अगर कोई इंटरनेट पर सर्च करता है  आपके टॉपिक के बारे में तो आप की बुक का भी ऑप्शन आना चाहिए तो इसलिए कीवर्ड को अपने  ई बुक में ज्यादा से ज्यादा और जरूर से जरूर जगह दें। आप जितने ज्यादा कीवर्ड्स अपने ही बुक में ऐड करेंगे, उतनी ही ज्यादा  चांस होगा आपकी  ई बुक का सर्च रिजल्ट  मैं फर्स्ट पेज पर आने का।  
  • E-books की आउटलाइन के आखिरी पड़ाव में आपको समरी भी देखनी चाहिए है क्या आप आखरी में अपने  रीडर्स को क्या बताना चाहते हैं। 

3. ईबुक के पेज सुनिश्चित करना

आपकी इबुक कितने पेजेस की होगी और उसमें कितने words होंगे।  यह सब भी आपको अभी सुनिश्चित कर लेना चाहिए।  बहुत सारे लोग जो भी पहली बार ही बुक लिख रहे हैं उनके सामने यह समस्या होती है कि उनको यह पता नहीं होता कि  एक आदर्श e book की लंबाई कितनी रखनी चाहिए। 

वैसे तो यह पूरी तरह से आपके टॉपिक पर निर्भर करता है कि आपका टॉपिक कितना बड़ा है या आपको अपने टॉपिक में कौन-कौन सी चीजे बतानी है। अगर आपको कम चीजे बतानी है तो आपकी ebook छोटी length की भी हो सकती है और अगर आपको ज्यादा मैटर कवर करना है तो आपकी इबुक एक बड़ी ebook  भी हो सकती है।  

हालांकि आपको सारा चिंता करने की जरूरत नहीं है,इसका भी सॉल्यूशन हम आपको बता देते हैं। 

जहां एक non-fiction आम बुक 50000 या उससे भी ज्यादा वर्ड्स की हो सकती है वहीं पर  एक Ebook 3000 शब्दों से लेकर 50000 शब्दों तक भी हो सकती है। 

हालांकि ज़्यादातर यही प्रेफर किया जाता है  की बुक्स की लेंथ थोड़ी कम हो।  जाहिर से बात है अगर आपको बड़ी बुक ही पढ़नी है तो आप book  खरीद कर ही ले आएंगे,ज़्यादा   बड़ी e बुक को थोड़ी न आप अपनी स्क्रीन पर पढ़ सकते हैं।

इसलिए यह बुक की लंबाई बहुत ज्यादा बड़ी नहीं होनी चाहिए। अगर हम एक आइडियल ebook की बात करें तो वह 15000 से 30000 शब्दों में खत्म हो जानी चाहिए , जिसमें आप 60 से लेकर 120 पेज तक कवर कर सकते हैं। 

4. सही फाइल फामट का चुनाव

Ebook  दो फॉर्मेटिंग (formatting) कैटेगरी में आती है जो कि है:

1. रिफ्लो एबल लेआउट (reflowable layout) 

 इस लेआउट में आप की e बुक  की  लंबाई और चौड़ाई ऑटो एडजेस्ट हो जाती है  यानी इस लेआउट में ही बुक अपने आप को रीडर की स्क्रीन की हिसाब से ढाल लेती है रीडर को चेंज करने की जरूरत नहीं है।  साथ ही साथ अगर आपकी बुक में कोई पिक्चर का इमेज है तो उसको भी ऑटो एडजेस्ट मोड पर डाल देती है इसको पढ़ने में काफी आसानी रहती है और उन्हें लेआउट बदलने की जरूरत नहीं होती। 

2. फिग्स लेआउट (Fixed layout)

 दूसरा है इसमें  स्क्रीन के हिसाब से लेआउट चेंज नहीं होता। रीडर्स को खुद साइज को एडजस्ट करना पड़ता है ज्यादातर इस तरह  कल लेआउट पीडीएफ (pdf) फाइल फॉर्मेट में इस्तेमाल होता है। 

यह दोनों फाइल फॉर्मेट अपनी अपनी जगह के कुछ फायदे और अपनी अपनी जगह कुछ नुकसान है तो आपको अपने हिसाब से चूस करना है कि आप कौन से फाइल फॉर्मेट में अपनी ही बुक लोगों को देनी है। 

5. Designing of Ebook 

आजकल इबुक डिजाइन करने के लिए कई सारे सॉफ्टवेयर आते हैं जिसकी मदद से आपको एक बुक डिजाइन करने में काफी सहूलियत भी होगी और आपका काफी सारा टाइम और पैसा भी बचेगा ऐसे कई सारे टूल्स है जिसका आप भी आसानी से और फ्री में इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे कि :

  • Designrr 
  • Canva 
  • Visme 
  • Venngage 
  • scrivener 

गेम सॉफ्टवेयर और उसके इस्तेमाल करके आप भी अपनी बुक्स को आकर्षक बना सकते हैं आप उनका कवर पेज बना सकते हैं, थीम डिसाइड कर सकते हैं इसके अलावा भी अपनी बुक को कलरफुल बना सकते हैं। 

Ebook Selling 
Ebook Selling 

6. Ebook Selling  

अपनी बुक्स को आप कई तरीके से बेच (sell)  सकते हैं जो कि निम्न प्रकार हैं:

1. अपने सब्सक्राइबर्स को ebook बेचना 

सबसे पहले तो अगर आप पहले से ही कोई ब्लॉगर है तो आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर अपनी बुक्स फेल करने का ऑफर लोगों को दे सकते हैं ताकि आपके जो भी सब्सक्राइब हैं या जिन्हें भी आपका ब्लॉग यहां आर्टिकल पढ़ना पसंद है वह आपकी इमो का आसानी से वहां पर ले सकें आप इनके साथ कई सारे प्रमोशनल ऑफर भी रख सकते हैं जैसे कि पहले 100 लोगों को कुछ डिस्काउंट दे सकते हैं  जिससे आपकी बुक काफी जल्दी बिकेगी। 

2. Socialmedia platforms पर ebooks sell करना 

अब अगर आप कोई blog , यूट्यूब  या वेबसाइट के मालिक नहीं है तो भी आप अपनी बुक को अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर प्रमोट कर सकते हैं वहां पर आपके फ्रेंड्स और रिलेटेड लोग आप की ई बुक ले सकते हैं। 

3. Email Marketing Tools से ebooks बेचना 

इसके अलावा भी आप ईमेल मार्केटिंग टूल्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जिसके जरिए आप अपनी इबुक्स का प्रमोशन कर सकते हैं इसमें आपको लोगों को पर्सनल लाइफ ईमेल भेजना होगा अपनी बुक्स के बारे में डिटेल्स और ऑफर वगैरा उसमें बताने होंगे और लोगों को अगर आपकी बुक अच्छी लगती है तो  लिंक पर जाकर उसे खरीद सकते हैं। 

4. Amazon पर e बूक्स बेचना 

अगर आप अपनी बुक को ऐमेज़ॉन जैसे बड़े इकॉमर्स प्लेटफॉर्म पर बेचना चाहते हैं तो उसके लिए आपको  एक प्रोसेस से गुजरना होगा। आप ऐसे ही अमेजॉन पर जाकर अपनी ebook को नहीं बेच सकते हैं। 

Amazon par ebooks bechne ke liye आपको सबसे पहले इन कुछ स्टेप्स (steps) को देखना  होगा जो निम्न प्रकार से हैं :

  1. आपको किंडल (kindle) पर डायरेक्ट पब्लिशिंग अकाउंट बनाना पड़ेगा

जी हां अमेजॉन पर अगर आप अपनी e-book बेचना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको किंडल पर अकाउंट बनाना पड़ेगा क्योंकि अमेजॉन पर जितनी भी ebooks हैं वह कैंडल एप्स के जरिए ही रीड की जा सकती है, तो इसीलिए आपको भी एक अकाउंट बनाना पड़ेगा। जो कि काफी आसान है और अपने अमेजॉन के अकाउंट से इसे आसानी से बना सकते हैं।  अब अगर आपने अमेजॉन पर पहले से अकाउंट नहीं बना रखा, तो आपको पहले अमेजॉन पर अकाउंट बनाना होगा। उसके बाद ही आप इस पर अपनी डिटेल्स भरेंगे जैसे कि पब्लिशर का नाम, पेमेंट मोड इत्यादि। 

  1. आप अपनी बुक का टाइटल और शानदार डिस्क्रिप्शन दे। 
  2. फिर अपनी बुक के लिए कीवर्ड(keyword) चुने। 
  3. अपनी e बुक की मैनुस्क्रिप्ट (manuscript)  और उसका कवर भी अपलोड कर दें। 
  4. उसके बाद आप अपनी ई बुक की प्राइस वहां पर लिस्ट करवा दें। 

बस यह सारी चीजें एड करने के बाद आप  फेस चेंजर और सबमिट बटन पर क्लिक कर दें बस आपकी बुक  अमेजॉन पर पब्लिश हो जाएगी।  अब जब भी कोई आपके कैटेगरी की  बुक सर्च करेगा तो आपकी भी बुक सर्च रिजल्ट्स में आएगी। 

निष्कर्ष: about Ebook कैसे लिखे

मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा यह आर्टिकल ‘ebook kese banaye’ काफी पसंद आया होगा और आपको इससे नई नई जानकारी मिली होगी।   

आज के आर्टिकल में हमने जाना  ebook kaise banaye, ebook kaise likhe, ebook kaise download kare, ebook kaise sell kare, ebook se paise kaise kamaye और amazon par book kaise beche इत्यादि। 

 आपको हमारा आर्टिकल (ईबुक कैसे लिखे) ‘ebook kaise likhe’ कैसा लगा आप हमें जरूर बताइएगा। 

अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो हमें जरूर बताएं। हमें आपके कमैंट्स का इंतजार रहेगा। 

यह भी पढ़ें…

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 1226

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.