Computer Ko Virus Se Kaise Bachay

Computer Ko Virus Se Kaise Bachay: दोस्तों, आज के समय Computer का इस्तेमाल लगभग हर क्षेत्र में किया जाता है। शायद ही ऐसा कोई क्षेत्र होगा, जहां पर Computer का उपयोग नहीं है। समाज के कार्यों में, निचले स्तर से लेकर सर्वथा ऊपर के स्तर तक Computer का उपयोग होता है। इसीलिए लोग यही कोशिश करते हैं कि उनका Computer Virus जैसी चीजों से दूर रहे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि Computer Ko Virus Se Kaise Bachay?

आपमें से कई लोग Virus से अनभिज्ञ नहीं होंगे, लेकिन कुछ लोगों को Virus के बारे में जानने की आवश्यकता भी है। इसीलिए आज के लेख में हम आपको बताएंगे कि Virus क्या होता है, Virus कितने प्रकार का होता है, Computer Ko Virus Se Kaise Bachay

इन सब के बारे में आपको विस्तार से जानकारी देंगे। तो चलिए शुरू करते हैं –

Computer Virus क्या है? – What is Virus?

दोस्तों, Computer Virus और कुछ भी नहीं बल्कि एक Computer Program होता है, जिसका मूल उद्देश्य या जिसके बनने का मूल उद्देश्य Computer द्वारा दी जाने वाली सेवाओं को रोकना उन्हें परिवर्तित करना तथा कुछ ऐसा बना देना है, जो उसे इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति को नुकसान पहुंचा सके या फायदा पहुंचाने पर रोक लगा सके।

Computer Virus आमतौर पर एक ऐसा Program होता है जो मूल रूप से Computer के वातावरण में आसानी से रह सकता है, और कई बार यह ढूंढने पर भी नहीं मिलता। इसका पता लगाने के लिए आपको Anti-Virus की आवश्यकता होती है। यह एक Post-Program पर काम करता है। एक Virus अपने Code स्वयं लिखता है और अपने Program को अपने अनुसार Execute करता है।

हालांकि यह Program पहले से ही किसी Programer के द्वारा बनाया गया होता है, जो मूल रूप से Computer को नुकसान पहुंचाने इन इफेक्ट करने या डैमेज करने के उद्देश्य से पूर्ण किया गया होता है।

“जिस प्रकार वायरस किसी कंप्यूटर को बर्बाद कर सकता है, उसी प्रकार अति-आत्मविश्वास हमारे जीवन को भी बर्बाद कर सकता है। इस लिए यह आवश्यक है कि हम ऐसी किताबें पढ़ें जो हमें अति-आत्मविश्वास से बचाने का काम बिलकुल उसी प्रकार करे जैसे कंप्यूटर को वायरस से बचाने का काम एंटी-वायरस करता है।”

www.bloggingcity.in

यह भी पढ़ें – Mobile ko clean kaise karen

Computer Virus कितने प्रकार के होते हैं?

Computer Virus कई प्रकार के होते हैं। हालांकि इन्हें एक साथ निर्धारित करना थोड़ा मुश्किल है लेकिन हम आपको बताते हैं कि Computer Virus कौन-कौन से होते हैं। इन सभी के नाम कुछ इस प्रकार हैं –

Computer Virus कितने प्रकार के होते हैं
  • Boot Sector Virus
  • Direct Action Virus
  • Web Scripting Virus
  • Polymorphic Virus
  • Browser Hijacker
  • File Infector Virus
  • Resident Virus
  • Multi-Partite Virus
  • Micro Virus
  • Macro Virus

Virus को सभी प्रकार में बांटा जा सकता है। हालांकि यह Virus के नाम नहीं है लेकिन Virus की कैटेगरी है। इन सभी के अंतर्गतवे सभी Virus समा सकते हैं, जो आज के समय अवेलेबल है।

वायरस के बारे में जानकारी
वायरस का निर्माण किसने किया?बोब थॉमस ने सन 1971 में पहली बार क्रीपर Program बनाया था।
वायरस क्या होता है?वायरस एक प्रोग्राम होता है जिसे कोडिंग से बनाया जाता है।
वायरस शब्द का अविष्कार किसने किया?फ्रेड कोहेन ने
पहले वायरस का नाम क्या है?Creeper

Computer को Virus से कैसे बचाएं – Computer Ko Virus Se Kaise Bachay

दोस्तों, यदि आप अपने Computer को Virus से सुरक्षित रखना चाहते है, तो आपको कुछ चीजों का इस्तेमाल करना होगा, तथा कुछ नियमों का पालन करना होगा। हमने आपको नीचे विस्तार से बताया है कि Computer Ko Virus Se Kaise Bachay।

यह भी पढ़ें – App me Lock Kaise Lagaye?

Computer को Virus से कैसे बचाएं

Computer को Virus से बचाने के लिए आप सभी तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं-

  1. सबसे पहले Anti-Virus जैसे – Quickheal, Malwarebytes का इस्तेमाल करें। यह Computer को Virus से बचाने का तरीका होता है।
  2. यदि किसी भी कारणवश आपके Computer में Virus आ भी जाता है, तो यह उस बार इसको ढूंढ कर बाहर निकाल सकता है।
  3. किसी भी अनजान वेबसाइट पर क्लिक ना करें, क्योंकि आमतौर पर जब आप किसी अनजान व्यवसायिक पर क्लिक करते हैं, या किसी अनजान व्यक्ति को ओपन करते हैं, तो आमतौर पर उसमें Virus होते हैं। और वही Virus आपके Computer या लैपटॉप को पूरी तरह से बर्बाद कर सकते हैं।
  4. किसी भी लिंक पर तब तक क्लिक न करें जब तक उसके बारे में आपको ज्यादा जानकारी ना हों, क्योंकि आमतौर पर देखा गया है कि यदि किसी Computer लैपटॉप में Virus होता है तो यह केवल इसी कारण होता है कि किसी व्यक्ति ने ईमेल में, मैसेज में या अन्य किसी स्थान पर एक ऐसे वेब पेज को ओपन कर लिया है जिसमे वायरस है, या आपने किसी अन्य पेज पर जाने का भरोसा करके उस पर क्लिक कर दिया है।
  5. इसके बदले में उसके माध्यम से आपके लैपटॉप या Computer में Virus आ गया है। अधिकतर इसी प्रकार के होते हैं।
  6. अपने Computer के सॉफ्टवेयर अपडेट रखें यह Computer को भारी से बचाने का एक अच्छा तरीका है। इससे 70% मामलों में आपका Computer Virus से सुरक्षित रहता है।
  7. अपने Computer का सदैव बैकअप रखें, क्योंकि हम चाहे कितना भी बचने का प्रयास करें कभी ना कभी Computer में Virus आ ही जाएगा, और जब ऐसा होगा तो आपको अपने Computer के डाटा को सुरक्षित रखने का काम भी आपको उससे पहले करना होगा।
  8. अपने लैपटॉप या Computer में Adblocker इंस्टॉल करें रखें, और हर समय उसका इस्तेमाल करें।
  9. किसी भी बाहरी पेनड्राइव को कभी अपने लैपटॉप या Computer से कनेक्ट करें जब आपका घर भरोसा हो कि उसमें Virus नहीं है या आपके Computer में Anti-Virus है।
  10. कभी भी सस्ता या फ्री Anti-Virus Computer के लिए इस्तेमाल ना करें। क्योंकि कभी-कभी फ्री Anti-Virus भी अपने अंदर कुछ ऐसे Virus छुपा कर रखता है जिसके बारे में आपको जानकारी नहीं होती है।

यह भी पढ़ें – Call Recording Ki Warning Kaise Band Karen?

Computer Ko Virus Se Kaise Bachay से संबंधित FAQ’s

Asia का पहला Virus कौन सा था?

Asia का पहला Computer Virus, C-Brain Virus था। यह वायरस एक ऐसा वायरस था जो मूल रूप से दो पाकिस्तानी भाई अमजद फारुख अली और बासित फारुख अली ने बनाया था। जी हां, दुनिया  का सबसे पहला वायरस पकिस्तान से ही 1986 में बना था।  

यह वायरस गलती से बना था। यह दोनों भाई छोटे मोटे सॉफ्टवेर  बनाकर पैसे कमाने का काम करते थे, इन के पास खुद का कंप्यूटर नहीं था इस लिए साइबर कैफ़े में बैठकर कोडिंग किया करते थे।
 
लेकिन एक बार इन्हें एक मेडिकल सॉफ्टवेर को पाइरेसी से बचाने के लिए एक सॉफ्टवेर बनाने को कहा गया, इन्होने बड़ी मेहनत से एक सॉफ्टवेर बनाया लेकिन वह एक नार्मल सॉफ्टवेर बनने  के बजाय एक वायरस बन गया।
 
अमजद फारुख अली और बासित फारुख अली एक मेडिकल सॉफ्टवेर के लिए ब्रेन नामक सॉफ्टवेर बना रहे थे, लेकिन जब यह एक वायरस बन गया तब इन्होने इसे C-Brain नाम दिया।

प्रथम Computer Virus के मालिक कौन है?

कुछ लोगों की अनुसार बोब थॉमस ने सन 1971 में पहली बार क्रीपर Program बनाया था अर्थात प्रथम Computer Virus के मालिक का नाम बोब थॉमस है। यह एक सेल्फ Replicating Virus   वायरस है, जो कंप्यूटर या सिस्टम में होने वाली हर हरकत पर अपनी एक कॉपी जनरेट कर देता है।

Computer Virus का जनक कौन है?

कंप्यूटर वायरस के जनक का नाम फ्रेड कोहेन था। इन्होने 1985 में वायरस शब्द का अविष्कार किया था।

Virus और Anti-Virus में अंतर क्या है?

Virus और Anti-Virus में बीमारी और दवाई जितना अंतर होता है। Virus Computer को धीमा करता है। Computer की सारी जानकारी एक स्थान से दूसरे स्थान पर बिना आपकी आज्ञा के ट्रांसफर कर देता है।

आपके Computer को इतना कमजोर बना देता है कि वह किसी भी प्रकार से अपनी सुरक्षा ना कर सके, और आपके डेटा की सुरक्षा के तथा Virus आपके अन्य Computer Program को रोकने का काम करता है। जबकि Anti – Virus, Virus को हटाने का काम करता है।

Computer Virus का पता कैसे लगाते हैं?

Computer Virus का पता लगाने के कई तरीके होते हैं, जिनमें से दो तरीके प्रमुख हैं-
पहला तरीका तो यह है कि आपका Computer सामान्य रूप से व्यवहार नहीं करता और अत्यंत ही धीमी गति से कार्य करता है, आपके Program सही से काम नहीं करते, आपका Computer समय-समय पर बार-बार हैंग होता है। जब आपको अपने Computer में ऐसे कुछ लगता है या दिखाई दे तब 90% चांस यह होता है कि आपके Computer में Virus है।

Computer में वायरस का पता लगाने का दूसरा तरीका यह है कि आप एंटी Virus का इस्तेमाल करें। Anti-Virus अपने आप आपके Computer से Virus का पता भी करेगा, और उसे निकाल देगा।
 
एक तरीका यह भी है, कि आप Virus के बारे में और उनके सभी प्रकार के बारे में जानकारी प्राप्त करें और मैनुअली उन्हें ढूंढे कि आपके Computer में Virus कहां है। यह तरीका केवल तभी आजमाया जा सकता है जब ऊपर बताए गए दो अन्य तरीके आप किसी कारण से इस्तेमाल ना कर सके।

Computer Virus से बचने के तरीके?

Computer को वायरस से बचाने के कई तरीके होते हैं। उनमें से सबसे पहला तरीका होता है कि – आप अपने Computer में Anti-Virus इंस्टॉल कर ले, जिसके पश्चात यदि आपके लैपटॉप या Computer में Virus आ भी जाएगा, तो आप उसे आसानी से निकाल सकते हैं।
 
इसके अलावा एक तरीका यह है कि आप सचेत रहकर अपने Computer का इस्तेमाल करें, और कोशिश करें कि जहां-जहां से भी वायरस आ सकता है, उन सभी प्लेटफार्म पर आप अपने Computer को इस्तेमाल ना करें।
 
Computer Virus से बचने का एक तरीका यह भी होता है, कि आप अपने Computer को समय-समय पर खाली करते रहे या उसमें जंक फाइल हटाते रहे ऐसा होता है, कि आपके Computer में Virus आएगा ही नहीं।

निष्कर्ष: Computer Ko Virus Se Kaise Bachay

दोस्तों आज के लेख में हमने आपको बताया कि Computer Virus क्या है, और Computer Virus से बचने के कौन-कौन से तरीके हैं, इसके अलावा हमने आपको यह भी बताया कि Computer Ko Virus Se Kaise Bachay

हम आशा करते हैं कि आज का हमारा यह लेख पढ़ने के पश्चात आप यह समझ पाए होंगे कि Computer Ko Virus Se Kaise Bachay। यदि आप कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 1251

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *