5
(166)

Blog seo kaise kare? दोस्तों आज का हमारा टॉपिक काफी महत्वपूर्ण होने वाला है, उन लोगों के लिए जो या तो पहले से ही ब्लागर हैं, या फिर ब्लॉगिंग करना चाहते हैं, ब्लॉगिंग के अंदर कैरियर बनाना चाहते हैं, लेकिन उन्हें seo के बारे में कोई नॉलेज  नहीं है।

उनके लिए आज का हमारा आर्टिकल blog seo kaise kare  काफी मददगार साबित होने वाला है। 

देखिए आज कहने को तो इंटरनेट पर कांटेक्ट की भरमार है और आए दिन नए नए ब्लॉगर आते रहते हैं।  लेकिन कई सारे ऐसे भी ब्लोग्गेर्स है, जो कि सफल नहीं हो पाते और वह ब्लॉगिंग ही त्याग देते हैं।

ऐसे क्या कारण हो सकता है कि किसी ने blog बनाया और उस पर ज्यादा views नहीं आए या फिर वह सर्च रिजल्ट पर ऊपर नहीं आ पाया।  

वैसे तो होने में इसके बहुत सारे कारण हो सकते हैं, लेकिन अगर आपने कॉन्टेंट अच्छा बनाया है और ऐसे टॉपिक पर बनाया है जो टॉपिक चर्चा में भी है, लेकिन फिर भी अगर आपका आर्टिकल, गूगल सर्च इंजन पर या किसी भी सर्च इंजन पर रंग नहीं कर पाया, तो उसके पीछे क्या कारण हो सकता है। 

Blog SEO Kaise Kare

उसका जवाब हम आपको देते हैं।  इसका उत्तर है seo, आज हमारे आर्टिकल में यही बात करने वाले हैं कि आप कैसे अपने blog ko seo friendly kaise banaye, उसकी  सर्च रिजल्ट में रैंकिंग कैसे सुधार सकते हैं और अपने आर्टिकल के व्यूज बढ़ा सकते हैं।और जब views ज्यादा हो जाएंगे, तो आप उसके जरिए अच्छा पैसा भी कमा सकते हैं। 

तो चलिए शुरू करते हैं आज का आर्टिकल ‘blog seo kaise kare’. 

SEO क्या है | Blog SEO Kya Hai

ब्लॉग (blog) का seo करना यानी कि उसका सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (search engine optimization) करना, आज के टाइम पर बहुत जरूरी हो गया है।  क्योंकि बिना इसकी मदद के गूगल पर या किसी भी सर्च इंजन पर आपका ब्लॉग रैंक नहीं कर सकता। 

blog seo करने के एक नहीं बहुत सारे तरीके हैं। कुछ तरीकों को अपनाकर, आप अपने ब्लॉग में seo को लागू कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट को या अपने ब्लॉग आर्टिकल को पहले पेज पर पा सकते हैं। 

Blog me SEO Kaise Kare | Blog ko SEO Friendly Kaise Banaye

Blog me SEO Kaise Kare

यहां पर हम आपको बताने वाले हैं ऐसे स्टेप्स (steps) या तरीकों के बारे में जिन्हें अपना कर  आप भी अपने blog ko seo friendly (ब्लॉग को seo फ्रेंडली) बना सकते हैं।

  1.  कीवर्ड रिसर्च पर ध्यान दें
  2.  लोग क्या सर्च कर रहे हैं उस पर  ध्यान दें
  3.  Seo  friendly हेडलाइंस लिखें
  4.  सही हैडिंग और टैग्स का इस्तेमाल करें
  5.  अपने पेज के यूआरएल को ऑप्टिमाइज करें
  6.  अपने लिंक्स को अच्छा बनाएं
  7.  मेटा डिस्क्रिप्शन को ना भूले
  8.  इमेजेस का इस्तेमाल करें
  9.  पेज के लोडिंग टाइम का ध्यान रखना 
  10.  आर्टिकल को प्रमोट करें

अगर आप इन 10 स्ट्रेटजी (strategy )का इस्तेमाल करेंगे, अपने blog को seo friendly banane के  लिए तो आप जरूर अपने ब्लॉग को नई बुलंदियों तक ले जा सकता है। अब हम डिटेल में आपको बताएंगे कि कैसे आप ब्लॉग में seo सेटिंग कैसे करेंगे (blog me seo setting kaise kare) . 

1. Keyword Research करे | कीवर्ड रिसर्च करें

किसी भी seo strategy (स्ट्रेटजी) का सबसे बेसिक कॉन्सेप्ट होता है कीवर्ड रिसर्च (keyword research )। अगर आपकी कीवर्ड रिसर्च (keyword research )अच्छी है, तो आप उसको अपने ब्लॉग में ऐड करके, अपने बblog की सर्च इंजन में रैंकिंग(ranking)  सुधार सकते हैं। 

Keyword research (कीवर्ड रिसर्च) में सबसे ज्यादा ध्यान ये रखना होता है कि आप कहीं जरूरत से ज्यादा keywords ऐड (add) नहीं कर दें, अगर आप ऐसा करते हैं तो गूगल आप की साइट को analyse भी कर सकता है और वह आपको सर्च रिजल्ट्स में सबसे एंड में भी रख सकता है।  इसलिए कीवर्ड्स को ध्यान से इस्तेमाल करना चाहिए। 

अगर आप एक नए ब्लॉगर हैं जो जो सबसे अच्छा तरीका है कि वह को रंग कराने का कोई यह है कि आप थोड़े कम मुश्किल और हाई वॉल्यूम (high volume) वाले कीवर्ड्स (keywords) को अपने आर्टिकल या  ब्लॉग में शामिल करें।

आपको यह बात ध्यान रखनी है कि आप को बड़ी वेबसाइट से अपनी तुलना नहीं करनी है और ना ही आपको उन keywords को टारगेट करना है, जो बड़े वेबसाइट पहले से ही इस्तेमाल कर रहे हो। आपको दूसरे कीवर्ड का इस्तेमाल करना है, जो उन्होंने अपने आर्टिकल में इस्तेमाल नहीं किए  हो। 

ताकि अगर कोई भी व्यक्ति उन keywords  से कुछ सर्च करता है तो आपकी ही वेबसाइट लोगिन फिर आर्टिकल सर्च रिजल्ट्स में अच्छी रैंक करें।  

अब अगर आप नए ब्लॉगर हैं तो आपको जाहिर सी बात है यह आपको पता नहीं है कि आप कीवर्ड रिसर्च कैसे करेंगे? तो उसके लिए भी हम आपको कुछ वेबसाइट या  सॉफ्टवेयर बता रहे हैं, जिनका इस्तेमाल करके आप भी कीवर्ड्स आसानी से सर्च कर सकते हैं और उन्हें अपने ब्लॉग में ऐड कर सकते हैं। 

 कुछ प्रसिद्ध keyword tools (कीवर्ड टूल्स) हैं:

  • Twinword ideas 
  • Ahrefs
  • Semrush 

आप ऊपर बताए हुए इंटूल्स का इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे आप अपने आर्टिकल को seo friendly  बना पाएंगे और उसे ज्यादा अच्छे से एनालाइज(analyse ) कर पाएंगे और अच्छे से अपने आर्टिकल या ब्लॉग में कीवर्ड रिसर्च करके लिख भी पाएंगे।

तो इस प्रकार आप  इन  सभी टूल्स की मदद से  कीवर्ड रिसर्च कर सकते हैं और  अपने आर्टिकल या ब्लॉक की सर्च रैंकिंग में सुधार ला सकते हैं। 

2. लोग क्या सर्च कर रहे हैं उस पर ध्यान दें | concentrate on what people are searching  

सबसे जरूरी बात यह है कि आपको यह ध्यान में रखना है कि आपके ऑडियंस क्यों सवालों के जवाब खोज रही है। क्योंकि गूगल का एल्गोरिदम ऐसा है कि वह उन्हीं साइट्स को ढूंढता है और पहले पेज पर लाता है जिन साइट्स पर यूजर द्वारा सर्च किया हुआ keyword  लिखा हो। 

तो सर्च रैंकिंग में  पहले पेज पर आने के लिए आपको अपनी ऑडियंस को जानना जरूरी है लेकिन आप ऐसा करेंगे कैसे?  तो उसका भी सॉल्यूशन हम आपको बता देते हैं। 

आप जब भी किसी चीज के बारे में गूगल पर सर्च करते हैं।  तो सर्च रिजल्ट के अलावा भी आप  देखते होंगे वहां पर लिखा होता है ‘people also ask’ (लोगों द्वारा पूछा गया) और ‘searches related to’(सर्च संबंधित है), और इस प्रकार आपको और भी चीजों के बारे में जानकारी मिलती है जो  अलग-अलग लोगों  द्वारा पूछी गई है।

people also ask

बस आपको इन्हीं चीजों के बारे में  ध्यान देने की जरूरत है, क्योंकि यही वह सवाल है या हम कहें यही वह कीवर्ड्स हैं जो आपकी  वेबसाइट या ब्लॉग  की रैंकिंग सुधार सकते हैं। 

यह वह सारे प्रश्न होते हैं जो अक्सर लोग पूछते हैं, तो आप भी इन्हें अपने आर्टिकल में शामिल कर सकते हैं और अपने कंपीटीटर्स मैं जिस तरह के जवाब भी हैं उनसे बेहतर जगह बना कर आप अपने आर्टिकल में शामिल कर सकते हैं। 

इस तरह अगर कोई और व्यक्ति भी इन सवालों के जवाब ढूंढ रहा होगा और अगर  आपके ब्लॉग में आर्टिकल में  बिल्कुल यही सवाल हुए तो आप ही  का आर्टिकल सबसे पहले  दिखेगा। 

3. Seo friendly हेडलाइंस लिखें | Write seo friendly headlines 

 Write seo friendly headlines 
Image Source: Pixels.com

Seo  friendly  आर्टिकल लिखने के लिए सबसे जरूरी बात यह है कि आप की हेडिंग(heading)  इतनी आकर्षक होनी चाहिए कि लोग उसे बिना क्लिक(click) किए,  ना रह पाए। यानी वह आपका आर्टिकल छोड़ ना सके,  कुछ इस तरह के अट्रैक्टिव यानि की आकर्षक हेडिंग आपको लगानी होती है, ताकि आपकी ऑडियंस आपके आर्टिकल को रीड करें ही सही। 

ऐसा इसलिए भी है क्योंकि गूगल उन्हीं वेबसाइट को प्राथमिकता देता है जिनको यूज़र  ज्यादा क्लिक कर रहे हैं। 

अपनी हेडिंग को आकर्षक बनाने के लिए, आपको सबसे पहले अपनी ऑडियंस को यह चीज दिखानी होगी कि उन्हें आपका ब्लॉग पढ़ने से क्या फायदा होगा। अगर आप फायदे की बात करेंगे तो लोग उसे बिना रीड (read ) किये नहीं रह पाएंगे। 

इसके बाद आपको अपना वादा बिल्कुल निभाना होगा आपको उनको क्वालिटी आर्टिकल प्रदान करना होगा, जिस सॉल्यूशन की तलाश में वह आपके ब्लॉग पर आए हैं।  आपको वह सॉल्यूशन उनको देना होगा ताकि उनका भरोसा आप पर बना रहे। 

दूसरा तरीका यह है कि आपको ऐसे टाइटल्स बनाने होंगे जो कि कुछ पावरफुल शब्दों का मिक्सचर हो। उसमें ऐसा कोई इमोशनल पोर्शन हो, ऐसी कोई  प्रभावी बात हो कि उसे बिना क्लिक किए या बिना देखे यूजर रहे ही नहीं पाए। 

अब आप ये कैसे पता करेंगे कि आपकी हेडलाइंस अट्रैक्टिव है या नहीं।  तो उसके लिए भी एक टूल है जिसके बारे में हम आपको बताते हैं उस टूल  नाम है yoast. 

Yoast  wordpress (वर्डप्रेस) का ही एक फ्री प्लगइन (free plugin) है जो की  सभी ब्लॉगर्स की मदद करता है ताकि आप का टाइटल और आपका contant सारी चीजों का पालन करता हो, जो भी seo के लिए जरूरी है। 

तो आप इस  फ्री टूल की मदद से  अपनी हेडिंग का स्कोर चेक कर सकते हैं और देख सकते हैं कि  आपके द्वारा बनाई गई हेडिंग्स (headings) आकर्षक (attractive) है या नहीं।  

4. सही हैडिंग और टैग्स का इस्तेमाल करें | Using right headings and tags 

सही हैडिंग और टैग्स का इस्तेमाल करना भी बहुत जरूरी है,अपने आर्टिकल को seo friendly बनाने में। 

अब सवाल आता है कि आपको कैसे पता चलेगा कि कौन से हेडिंग कौन से टैक्स का इस्तेमाल करना है।  तो आप अगर गूगल  डॉक्स (google docs)  पर काम कर रहे हैं, तो आपको menu में जाकर अपनी हेडिंग(headings)  का साइज सिलेक्ट करना होगा।

यहां पर आपको पांच प्रकार की हेडिंग दी हुई होती है जो  की हेडिंग 1, हेडिंग 2  इत्यादि नामों से होती है। 

अगर आप सही headings का इस्तेमाल करते हैं तो seo  करना काफी आसान हो जाएगा। 

हम आपको यह भी बता देते हैं कि आपको कौन सी हेडिंग किस में इस्तेमाल करनी है। 

  1. Heading 1 :

यह सेटिंग का इस्तेमाल सिर्फ एक ही बार किया जा सकता है और  वह भी आपके टाइटल के लिए।  यानी आप का प्राइमरी कीवर्ड (primary keyword)  इस हैडिंग के अंदर आता है।  यानी आपको अपने पूरे आर्टिकल में सिर्फ एक ही बार इस हेडिंग का इस्तेमाल करना है।  

  1. Heading 2 :

 इसमें आपके आर्टिकल के मेरे आइडियाज आते हैं।  अगर हम seo  हिसाब से बात करें तो यह हेडिंग्स  छोटे और बड़े दोनों तरह के कीवर्ड्स को सपोर्ट करती हैं। 

  1. Heading 3 : 

यह आपके ब्लॉक के सब टॉपिक या वह छोटे आईडिया हैं,  जो कि आपकी  h2  हेडिंग के नीचे आते हैं। 

  1.  Heading 4- 6 : 

इन हेडिंग्स का seo वैल्यू (value) काफी कम होता है और यह आपके पेज की फॉर्मेटिंग (formatting) और स्टाइलिंग (styling) में मदद करती है।  

तो इस तरह आप भी अपने आर्टिकल में  इन हेडिंग्स (headings) का सही से इस्तेमाल कर सकते हैं  और अपना seo वैल्यू (value) बढ़ा सकते हैं। 

5. अपने पेज के यूआरएल (url ) को ऑप्टिमाइज करें | optimize url of the page

optimize url of the page

अगर आप अपने ब्लॉग को सर्च इंजन की रेस में और आगे देखना चाहते हैं, तो आपको अपने यूआरएल को ऑप्टिमाइज़ (url optimize)  करने की जरूरत है। 

url को ऑप्टिमाइज करने का मतलब है आप को अपने टारगेट प्राइमरी कीवर्ड को अपने url  में ऐड करना होगा।  इससे होगा यह, कि जब भी कोई उस कीवर्ड का इस्तेमाल करके कुछ सर्च करेगा, तो आप ही का आर्टिकल सबसे पहले प्रदर्शित होगा।

इसलिए जहां तक हो सके, आप यह कोशिश करें कि आपका प्राइमरी कीवर्ड आपके यूआरएल(url)  में पूरा आ जाए। 

इसके अलावा भी आपको स्मार्ट युवा रेल लेने की कोशिश करनी चाहिए और उसमें 50 से 60 कैरेक्टर से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। जितना ज्यादा आपका url  छोटा (short) होगा, उतना ही ज़्यादा बेहतर होगा।

6. अपने लिंक्स को अच्छा बनाएं  | apne links ko acha banaye 

आपको यह बात  तो पता है कि सर्च इंजन वेबसाइट आपके हर शब्द को देखती है, खासकर आपके keywords को तो ज़रूर से ज़रूर नोटिस करती है। अगर क्या आपको यह पता है कि वो linked keywords  को भी तवज्जो देती है।

इन सर्च इंजन के हिसाब से linked keywords की वैल्यू ज्यादा होती है, उन वर्ड्स और phrases  की तुलना में जिन्हे के लिंक (link) ना किया गया हो।

तीन तरह के लिंक होते हैं जिसे आप अपने blog seo strategy के तौर पर इस्तेमाल कर सकते है।वो तीन प्रकार है:

1. Anchor Links –

 ये आर्टिकल के अंदर ही दूसरे एरियाज में हाइपरलिंक (hyperlink) की तरह इस्तेमाल किये जाते है।  

2. Internal Links – 

यह लिंक आपकी साइट पर दूसरे मददगार कंटेंट को ढूंढते हैं,यानि के आपके जितने भी contant है, उसे आपस में जोड़ने का काम करते हैं।  

3. External Links – 

यह लिंक किसी और की वेबसाइट से कनेक्टेड होते हैं, यानी कि यह वह लिंक है जिस पर क्लिक करके  आपके वीवर्स (viewers) किसी और की वेबसाइट पर रीडायरेक्ट(redirect)  हो जाएंगे।   

मैं आपको अभी तक जो भी लिंक उसके तरीके बताए हैं आप भी अपने ब्लॉग में उसका इस्तेमाल कर सकते हैं और आपकी ब्लॉक की seo ratings बढ़ा सकते हैं और अपने blog ko seo friendly bana सकते है। 

7. मेटा डिस्क्रिप्शन को ना भूले | meta description ko na  bhule

मेटा डिस्क्रिप्शन वह टेक्स्ट होता है जो कि आप की हेडलाइन के बाद सर्च रिजल्ट्स में नीचे की तरफ दिखाई देता है। आप इन्हें हाइलाइट्स (highlights) भी कह सकते हैं, जो आपके आर्टिकल के बारे में लोगों को थोड़ी सी हिंट या जानकारी दे देती है, आपका आर्टिकल  आगे कैसा होने वाला है,  किस बारे में  बताने वाला है। 

अब हम आपको बताते हैं कि आप अपना मेटा डिस्क्रिप्शन( meta description) लिखते वक्त किन चीजों का ध्यान रख सकते हैं और अपने blog me seo setting kaise kar  सकते हैं। 

आपका मेटा डिस्क्रिप्शन 50 से लेकर 160  शब्दों यहां कैरेक्टर्स के बीच का ही होना चाहिए,  ताकि वह लोगों का ध्यान आकर्षित कर सके। 

 आपके मेटा डिस्क्रिप्शन में आपका सॉल्यूशन दिखना चाहिए, जो भी आप यूज़र को देना चाह रहे हैं,  इससे  लोगों का ध्यान आपके आर्टिकल पड़ जाएगा और वह आपके आर्टिकल को बिना पढ़े अपने आप को रोक नहीं पाएंगे। 

आपके मेटा डिस्क्रिप्शन में एक या दो keywords  तो शामिल होने ही चाहिए , इसके लिए आपको ऐसे keywords को यूज (use) करना है, जिन्हें ज्यादातर लोग सर्च करते हैं। एक बात और जो याद रखने वाली है, वह यह,के आपके कीवर्ड्स, आपके मेटा डिस्क्रिप्शन में प्राकृतिक तरीके से आने चाहिए, आप उसे जानबूझकर नहीं ऐड कर सकते।

ऊपर बताई हुई चीजों का ध्यान रखते हैं तो आपको और आपके ब्लॉग को seo का  बेनिफिट (benefit)  बहुत जल्द मिलेगा और आपके साइट पर यहां आपके ब्लॉक पर काफी सारा ट्रैफिक भी आने लगेगा अगर आपने अभी तक बताई हुई सारी blog seo settings का  इस्तेमाल किया है।   

8. इमेजेस का इस्तेमाल करें | blog seo ke liye images ka use 

बहुत सारे लोग जब भी अपने ब्लॉग में इमेजेस (images)  या पिक्चर्स (pictures) का इस्तेमाल करते हैं,  तो वे पिक्चर को ऑप्टिमाइज (optimize) करना भूल जाते हैं।

जी हां, आपने सही सुना अगर आप अपने blog me seo setting karna चाहते हैं तो यह बहुत जरूरी है कि आप जिन भी इमेजेस का इस्तेमाल कर रहे हैं अपने ब्लॉग के लिए उनको भी सही से ऑप्टिमाइज करें। 

अब यहां पर इमेजेस को ऑप्टिमाइज करने से मतलब यह है कि आप  उसके नाम को बदलकर अपने कीवर्ड के नाम पर रख सकते हैं।  आप ऐसा इसलिए करेंगे क्योंकि सर्च इंजन उस तरह से आपकी मैसेज को नहीं देखता जिस तरह से आप और हम देखते हैं। 

सर्च इंजन इमेज फाइल के डिस्क्रिप्शन को देखते हैं और डिस्क्रिप्शन के अंदर भी वह टाइटल (title) और इमेज ऑल्ट टेक्स्ट (image alt text )को देखते हैं और उसको समझने की कोशिश करते हैं इसी तरह हो उसको श्रेणियों में भी बांटते हैं। 

इसीलिए यहां पर  आप जिस भी इमेज इस्तेमाल कर रहे हैं उस इमेज के नाम को बदलकर अपने कीवर्ड्स वहां पर डाल दें।  

इसके अलावा आप उसको अपलोड करने से पहले उसके टाइटल और एलट टेक्स्ट(alt text) में भी अपने blog की keywords का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

जब भी आप अपनी कीवर्ड्स को अपने इमेज के डिस्क्रिप्शन (description ) में ऐड कर रहे हैं तो यह बात जरूर ध्यान दे, के आप का डिस्क्रिप्शन 100  कैरेक्टर(characters)  से ज्यादा का ना हो। 

इसके अलावा भी जब भी आप अपने ब्लॉग में इमेजिस का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो यह ध्यान रखें कि वह बहुत ज्यादा साइज की ना हो।

जब भी आप कोई इमेज यूज करें, तो उसकी साइज को जरूर घटा लें, क्योंकि अगर इमेज की साइज बड़ी होगी, तो आपकी ब्लॉग पोस्ट या वेबसाइट को लोड (load )होने में बहुत टाइम लगेगा और यूजर आपका  article बिना पढ़े ही वहां से निकल जाएंगे।

इसलिए इस बात पर जरूर ध्यान दें  और अपनी इमेजेस को रिसाइट जरूर करें। 

9. पेज के लोडिंग टाइम का ध्यान रखना | page ke loading time ka dhyan 

अगर आपकी ब्लॉग पोस्ट या वेबसाइट को लोड (load )होने में बहुत टाइम लगेगा तो जाहिर सी बात है के यूजर आपका  article बिना पढ़े ही वहां से निकल जाएंगे। इसलिए इस बात पर जरूर ध्यान दें आपकी साइट लोड होने में ज्यादा समय ना लगाएं। 

 सच्चाई यह है कि आज किसी भी  व्यक्ति को इंतजार करना बिल्कुल पसंद नहीं  होता, तो जाहिर सी बात है अगर आपकी वेबसाइट लोड होने में बहुत ज्यादा टाइम मिलेगी तो यूजर किसी और की वेबसाइट पर जाकर अपने सवाल का जवाब ढूंढ लेगा, वह आपकी साइड  के खुलने का इंतजार क्यों करेगा। 

आजकल ज्यादातर लोग मोबाइल के जरिए नेट चलाते हैं और उसी पर अपने जवाब ढूंढते हैं, तो आपको यह भी इंतजाम करना होगा कि आपकी साइट मोबाइल पर भी उतनी ही अच्छे से काम करें और इतनी जल्दी काम करें जितना कि वह कंप्यूटर या टेबलेट पर करती। 

 अब सवाल यह आता है कि आपको कैसे पता होगा कि आपकी वेबसाइट कितना ज्यादा टाइम ले रही है खुलने में तो इसमे भी हम आपकी मदद कर सकते हैं।  हम आपको ऐसे टूल्स बता रहे हैं जिनकी मदद से आपको पता चलेगा कि आप की वेबसाइट को कितना टाइम लग रहा है खोलने में। 

वो टूल्स (tools) जिनसे आप अपनी site की loading speed का पता लगा सकते है उनके नाम है web.dev और गूगल का pagespeed insights. 

आप इन दोनों टूल्स का इस्तेमाल कर सकते हैं, यह देखने के लिए कि आपकी साइट को कितना टाइम लग रहा है लोड (load ) होने में और अगर किसी इंप्रूवमेंट की जरूरत है तो वह भी आप कर सकते हैं।   

अब यहां पर हम कौन से इंप्रूवमेंट (improvement )की बात कर रहे हैं, जिसको आप अपने आर्टिकल को पब्लिश होने से पहले कर सकते हैं। 

तो चलिए जान लेते हैं। 

  • आप अपनी इमेज को कंप्रेस कर सकते हैं। 
  • अगर आपके पेज (page )में ऐसे प्लगिंस (plugins )हैं जो जरूरी नहीं है, तो आप उन्हें हटा सकते हैं। 
  • आप किसी बेहतरीन होस्टिंग प्लान (hosting plan) का इस्तेमाल कर सकते हैं ताकि आपके साइड की स्पीड ज्यादा हो सके। 

तो आप हमारे बताए हुए इन तीनों तरीको का इस्तेमाल कर सकते हैं  और अपनी साइट की ओपन होने के समय को  कम कर सकते हैं। 

10. आर्टिकल को प्रमोट करें | Article ko Promote Kaise Kare 

जब आप एक नए ब्लॉगर होते हैं तो आप इतने उत्साहित होते हैं कि आपको ऐसा लगता है कि आपको ज्यादा से ज्यादा ब्लॉग और आर्टिकल्स लिखनी चाहिए।  केवल यही तरीका है अपने आप को दुनिया के सामने प्रस्तुत करने का और अपने रीडर्स  और अपनी ऑडियंस बढ़ाने का।  ऐसे ब्लॉगर जल्द से जल्द और ज्यादा से ज्यादा आर्टिकल लिखने की कोशिश करते हैं, लिखते भी हैं, लेकिन उसके बाद भी, उतनी ज्यादा पॉपुलैरिटी नहीं मिलती तो वे  निराश हो जाते हैं। 

देखिए यह बात सही है कि जब आपने ब्लॉगर होते हैं तो आपको मार्केट के बारे में बहुत सारी चीजों का आईडिया नहीं होता है, आपको ऐसा लगता है कि आप ज्यादा लिखेंगे, तो जल्दी सफलता पाएंगे, हर तरह के आर्टिकल लिखेंगे, तो लोग आप तक पहुंचेंगे, आपके आर्टिकल्स को रीड करेंगे और आप बाद में इसके ज़रिये पैसे भी कमा सकेंगे। 

मगर इस बात में बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है। सिर्फ लिखना ही काफी नहीं है। जी हां, आपने सही सुना। 

अगर आप अपने  ब्लॉग पर ज्यादा ट्रैफिक लाना चाहते हैं,  तो उसके लिए जो सबसे जरूरी चीज है वह यह है कि आप अपनी साइट को ज्यादा से ज्यादा प्रमोट करें।   आपका लिखना  20 % और आपका प्रमोशन 80 % होना चाहिए। 

जब आप अपने ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा प्रमोट करेंगे तो  ही आपके ब्लॉग पर ज्यादा ट्रैफिक आएगा।  लेकिन आप अपने आर्टिकल को प्रमोट कैसे करें, तो उसकी भी आपको कोई चिंता करने की जरूरत नहीं है, हम आपको उसके लिए कुछ सॉल्यूशन बताते हैं। 

अपने ब्लॉग को कैसे प्रमोट करे और कैसे blog seo result badhaye

1. गेस्ट पोस्ट लिखकर

आप किसी और के ब्लॉक पर अपना आर्टिकल पब्लिश करते हैं तो आपको एक लिंक मिलता है।  यह लिंक (link )आपके ब्लॉग के लिए बैकलिंक्स (backlinks) का काम कर सकता है। अब जब भी कोई व्यक्ति इस लिंक पर क्लिक करके, आपके ब्लॉग पर आएगा तो गूगल को यह लगेगा कि आप के ब्लॉक में जरूर कोई क्वालिटी कॉन्टेंट है इसीलिए लोग उसको पढ़ना चाह रहे हैं। तो गूगल भी आपकी आर्टिकल या आपके ब्लॉग को प्रमोट करेगा और आपकी सर्च इंजन रैंकिंग भी सुधरेगी। 

2. सोशल मीडिया प्रमोशन

लोगों को कैसे पता चलेगा कि आपने नया आर्टिकल लिखा है, इसके लिए आप अपने ब्लॉग को सोशल मीडिया पर promote  कर सकते हैं।  वहां पर लिंक शेयर कर सकते हैं और लोगों को बता सकते हैं कि आपने इस टॉपिक पर ब्लॉग लिखा है।  इसे जो भी लोग इंटरेस्टेड होंगे, वह आपके लिंक के जरिए आपके ब्लॉक को जरूर करेंगे।  

3. पुरानी पोस्ट को प्रमोट करना

आप अपने पुराने ब्लॉक आर्टिकल को rewrite (री राइट)कर सकते है, या अपडेट (update) कर के, उसको शेयर कर सकते हैं।  उसके टाइटल चेंज कर सकते हैं और इस तरह से आप सोशल मीडिया का ध्यान (attention),  अपनी website या blog की तरफ आकर्षित कर सकते हैं। 

4. ईमेल लिस्ट के जरिए प्रमोट करना

आप अपने न्यूज़ लेटर और वेलकम इन मेल्स का इस्तेमाल करके, अपने लिए एक ईमेल लिस्ट तैयार कर सकते हैं, अब जब भी आप आर्टिकल पब्लिश्ड कर रहे हैं तो आप उन ईमेल पर अपने आर्टिकल के लिंक को शेयर कर सकते हैं और उसकी थोड़ी भूमिका बांध सकते हैं ताकि लोगों को पता चल सके कि आपका आर्टिकल किस बारे में है।

इसके जरिए भी जो भी लोगों को आपके आर्टिकल को पढ़ने में इंटरेस्ट होगा वह उस लिंक पर क्लिक करके आपके आर्टिकल को जरूर पढ़ेंगे। 

5. अपने ब्लॉग का लिंक pinterest  पर देना

जब भी आपको आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिए ऑर्गेनिक ट्रैफिक (organic traffic) की जरूरत होती है, तो उसके लिए pinterest  से अच्छा कोई और विकल्प नहीं है।

आप इसके  ट्रैफिक का इस्तेमाल कर सकते हैं, वहां पर अपने आर्टिकल का छोटा रूप पोस्ट कर सकते हैं और पूरे आर्टिकल को read  करने के लिए, वहां पर लिंक शेयर (link share) करके, readers को अपने ब्लॉग पर रीडायरेक्ट (redirect ) कर सकते हैं। 

इससे आपके पास ऑर्गेनिक ट्रैफिक (organic traffic) भी आ जाएगा और आपके विवर्स भी बढ़ेंगे। 

6. दूसरे ब्लॉगर्स के साथ नेटवर्किंग करना 

अगर आप अपने niche में एक्सपर्ट हो रहे हैं, तो आप दूसरे blogger जो आपकी ही niche में काम कर रहे हैं, उनसे दोस्ती बढ़ा सकते हैं और उनकी भी मदद कर सकते हैं।

इसे स्ट्रेटजी को ब्लॉगर आउटरीच (blogger outreach) के नाम से जाना जाता है। 

इसके जरिए आप दूसरे ब्लॉगर्स को ईमेल कर सकते हैं, उनकी ब्लॉक पर गेस्ट बनकर podcast  कर सकते हैं, उनके साथ क्वेश्चन और आंसर राउंड भी कर सकते हैं,या फिर  यूट्यूब (youtube) में भी एक साथ  बातचीत कर सकते हैं।  इन सभी तरीकों से आपसी सहयोग की भावना का विकास होता है और लोगों को भी यह लगता है कि आप एक अच्छे व्यक्तित्व हैं। 

तो देखा आपने कि आप कितने सारे तरीकों के जरिए अपने आर्टिकल को प्रमोट कर सकते हैं और  अपने ब्लॉग पोस्ट पर आसानी से ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ा सकते हैं  और अपने blog me seo setting kar सकते है।  

ये भी पढ़े…

निष्कर्ष about blog seo kaise kare

मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा यह आर्टिकल ‘blog seo kaise kare’ काफी पसंद आया होगा आपको इससे नई जानकारी मिली होगी।   

आज के आर्टिकल में हमने जाना blog seo kaise kare वह भी हिंदी में, blog ko seo karne के tarike, blog me seo setting kaise kare, हमने सीखा seo kaise karte hain, blog को seo friendly kaise banaye. 

इसके अलावा भी हमें आपको इस आर्टिकल में बताया कि आप कौनसी strategies या तरीके अपना सकते हैं, जिनके जरिए आप अपने आर्टिकल की seo रैंकिंग बढ़ा सकें। 

आपको हमारा आर्टिकल ‘blog seo kaise kare’ कैसा लगा आप हमें जरूर बताइएगा। 

अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है इस आर्टिकल ‘blog seo kaise kare’ को लेकर तो भी हमें जरूर बताएं, हमें आपके  कमैंट्स का इंतजार रहेगा। 

 धन्यवाद

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 166

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *