Bhasha ki sabse chhoti ikai kya hai? दोस्तों क्या आप जानना चाहते हैं कि भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या है? तो हमारे इस article को अंत तक जरूर पढ़ें।

दोस्तों जैसा कि आप में से बहुत लोगों ने Google पर देखा होगा कि बहुत से लोग यह सवाल पूछते हैं कि भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या कहलाती है? और कई जगह इसका जवाब कि वर्ण भाषा की सबसे chhoti ikai hai यह गलत जवाब होता है, यह सवाल बहुत ज्यादा पूछा जाता है, इसलिए आपको इसकी जानकारी देने के लिए हमने यह article लिखा है, जिसमें हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी।

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि भाषा की sabse chhoti ikai क्या होती है? तो आप सही जगह आए हैं, इस लेख को पढ़ने के बाद आपकी इस topic को लेकर परेशानी खत्म हो जाएगी।

लेकिन अगर आपको यह नहीं पता कि भाषा क्या होती है? भाषा के भेद कितने होते हैं? तो हम आपको पहले इसके बारे में बता देते हैं।

अगर भाषा को साधारण तरीके से बताया जाए तो यह हमारे बोलने और लिखने का medium हैं, इसकी मदद से हम आपस में communicate करते हैं। इसकी मदद से लोग अपने ideas दूसरे लोगों के साथ share करते हैं, केवल यही नहीं यह हमारे विकास के लिए भी बहुत ही ज्यादा जरूरी चीज बनी है। इसकी मदद से ही हम evolve हो पाए हैं।

किसी इंसान के लिए अपने विचारों और emotions को दूसरों इंसान तक पहुंचाने का भाषा एक medium होता है।

भाषा की सबसे छोटी इकाई | Bhasha ki sabse chhoti ikai kya hai

Bhasha ki sabse chhoti ikai kya hai

इस section में हम भाषा की सबसे छोटी इकाई के बारे में आपको जानकारी देंगे और इससे जुड़े हुए सारे सवालों के जवाब पूरी research करने के बाद आपको बताएंगे और जिसके बाद आपके मन में इस बात को लेकर कोई भी शंका नहीं रहेगी की भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या है?

इसके बारे में पूरे research करने के बाद हम आपको यह बताना चाहेंगे कि भाषा की सबसे छोटी इकाई को वर्ण या ध्वनि कहते हैं। 

यह दोनों ही जवाब सही है लेकिन इसको समझने के लिए हमें यह बात समझनी होगी कि, Oral Language की सबसे छोटी इकाई को ध्वनि कहते हैं, और Written Language की सबसे छोटी इकाई को वर्ण कहते हैं।

यह बात समझने के लिए आपको यह समझना होगा कि मौखिक भाषा (Oral Language) और लिखित भाषा (Written Language) क्या होती हैं, चलिए आपको बताते हैं।

अब जबकि आपको यह पता चल गया है कि, मौखिक भाषा की सबसे छोटी इकाई ध्वनि होती है, तो आपको इस बात का explanation देना भी बहुत ज्यादा जरूरी है। केवल कह देने से काम नहीं होगा यह हमारी जिम्मेदारी है। इससे पहले आपको यह पता होना जरूरी है कि मौखिक भाषा क्या होती है? चलिए आपको बताते हैं।

मौखिक भाषा या Oral Language क्या होती है?

मौखिक भाषा या Oral Language क्या होती है

जो भाषा हम अपने मुंह से बोलते हैं उसे हम मौखिक भाषा कहते हैं, मौखिक भाषा में grammar का कोई role नहीं होता, इसमें grammar की कोई जरूरत नहीं पड़ती है। हर एक sound, word, sentence जो हमारे मुंह से निकलता है उसे मौखिक भाषा का रूप होता है। इसमें एक बोलने वाला इंसान और एक या एक से ज्यादा सुनने वाले लोग होते है।

Explanation – इस तरीके से मौखिक भाषा के मतलब को समझने के बाद आपको यह बात आसानी से समझ आ गई होगी कि, ध्वनि oral language की सबसे छोटी इकाई होती है। क्योंकि इकाई का मतलब ही सबसे छोटा part होता है। आपके मुंह से जब कोई word निकलता है तब  सबसे पहले उसकी शुरुआत एक ध्वनि से ही होती है। उन sounds से मिलकर एक word बनता है और words से मिलकर एक sentence बनता है।

मौखिक भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या है?

जैसा कि हमने आपको ऊपर पूरी जानकारी दी की मौखिक भाषा की सबसे छोटी इकाई को ध्वनि कहते हैं। क्योंकि जब भी आप कोई बात अपने मुंह से कहते हैं तो आपके मुंह से सबसे पहले एक ध्वनि निकलती है।

आपको यह बताते हैं लिखित भाषा की सबसे छोटी इकाई को क्या कहते हैं?

लिखित भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या होती है?

लिखित भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या होती है

अब जबकि आपको पता चल गया है कि, लिखित भाषा की सबसे छोटी इकाई एक “वर्ण” होता है। वर्ण को हम अक्षर भी कह सकते हैं। जैसे हिंदी वर्णमाला या फिर अक्षरमाला में लेखन के आधार पर 52 words है।

आपको इस बारे में पूरी जानकारी देना भी जरूरी है केवल कह देने से बात नहीं बनेगी। यह हमारी जिम्मेदारी है। इसके लिए हम आपको सबसे पहले यह बताएंगे कि लिखित भाषा किसे कहते हैं? तो चलिए शुरू करते हैं।

Written Language किसे कहते हैं?

जब हम कोई बात लिख कर किसी भी भाषा में किसी को कोई बात बताना चाहते हैं तब उसे लिखित भाषा कहते हैं।

लिखित भाषा को लिखने के लिए वह इंसान जिस भाषा में लिखना चाहता है उसे उसकी लिपि के बारे में knowledge होनी चाहिए। जैसे कि हम अपने ब्लॉक से अपने विचार आप लोगों तक पहुंचाते हैं। हमारी भाषा हिंदी है और इसकी लिपि देवनागरी है, जिसके बारे में हमें जानकारी है, इसी वजह से हम हिंदी में सही लिख पा रहे हैं और आपको हमारी बात समझ आ रही है।

Explanation – इसे पढ़ने के बाद आप लिखित भाषा को अच्छे से समझ गए होंगे, और यह भी जान गए होंगे कि वर्ण या अक्षर लिखित भाषा की सबसे छोटी इकाई होती है।

जब भी हम कोई sentence लिखना शुरू करते हैं तो हम सबसे पहले वर्ण या अक्षर ही लिखते हैं।

जैसे अगर आप सबका लिखना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको स लिखना पड़ेगा। उसके बाद आप ब लिखेंगे और फिर का तभी आपका word बन पाएगा। इसी तरीके को लेकर लिखित भाषा में आप जब भी कोई शब्द लिखते हैं तो वह वर्ण यानी कि अक्षर से ही शुरु होता है। इन्हीं शब्दों को जोड़कर एक sentence बनता है। इसलिए वर्ण या अक्षर लिखित भाषा की सबसे छोटी इकाई होती है। 

लिखित भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या है?

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया कि लिखित भाषा की सबसे छोटी इकाई को वर्ण या अक्षर कहते हैं। क्योंकि जब भी हम कोई sentence लिखते हैं तो हर word में आप वर्ण या अक्षर ही लिखते हैं। इसी से एक word की शुरुआत होती है जिससे एक sentence बनता है।

भाषा की सबसे छोटी सार्थक इकाई क्या है?

भाषा की सबसे छोटी सार्थक इकाई क्या है

भाषा की सबसे छोटी सार्थक इकाई को ध्वनि, वर्ण या अक्षर कहते हैं।

तो ऊपर दी गई जानकारी से हम यह कह सकते हैं कि भाषा की सबसे छोटी इकाई ध्वनि और वर्ण या अक्षर दोनों ही है। लेकिन यह बात सिर्फ एक चीज पर depend करती है कि भाषा लिखित है या मौखिक, इसका decision लेने के बाद आप यह किसी को भी बता सकते हैं कि उस की सबसे छोटी इकाई क्या है।

भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या है और क्यों?

अब हम आपको इस सवाल का जवाब दे सकते हैं। भाषा की सबसे छोटी क्या होती है की इस बात पर depend करती है कि वह भाषा कौन सी है मौखिक या लिखित।

उसके हिसाब से ही आप किसी और को जवाब दे सकेंगे। अगर वह मौखिक भाषा है तो उसकी सबसे छोटी इकाई ध्वनि होगी, क्योंकि जब भी आप कोई बात मुह से बोलते हैं तो वह सबसे पहले एक ध्वनि के तौर पर ही आपके मुंह से बाहर आती है और अगर वह लिखित है तो उसकी सबसे छोटी इकाई वर्ण या अक्षर होगा क्योंकि जब भी आप कोई sentence या word लिखते हैं तो उसके words वर्ण या अक्षर से ही बनते है।

भाषा में अर्थ की सबसे छोटी इकाई क्या है?

भाषा में अर्थ की सबसे छोटी इकाई को स्वनिम (phoneme) कहा जाता है। स्वनिम की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसका इस्तेमाल ज्यादातर बोलचाल की भाषा में होता है। इसकी मदद से हम किसी की कही गई बात में, या कही जाने वाली बात में अंतर बता सकते हैं। एक phoneme speech में sound का सबसे छोटा unit होता है।

ये भी पढ़े…

निष्कर्ष 

इस article में हमने आपको बताया कि भाषा की sabse chhoti ikai kya hai? 

वर्ण या अक्षर या ध्वनि। बहुत जगह लोग आपको गलत जानकारी दे रहे हैं। इसलिए आपको किसी भी बात पर भरोसा करने से पहले अपनी research करनी चाहिए और समझना चाहिए क्या सही है और क्या गलत।

इस topic पर हमने आपकी यह को चिंता खतम कर दी है और आगे भी करते रहेंगे अगर आपके कोई और सवाल हों तो हम उनका भी समाधान करने की कोशिश करेंगे। इसलिए आप अपने दूसरे सवाल भी comment section में हमसे जरूर पूछे, जिससे हम आपकी और भी चीजों पर मदद कर पाएं।

हमने आपको इस बात के  बारे में पूरी जानकारी दे दी है कि जब आपसे कोई यह सवाल करे तो आपको किस जवाब का किस जगह इस्तेमाल करना है।
उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह article भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या है? or Bhasha ki sabse chhoti ikai kya hai या भाषा की सबसे छोटी इकाई को क्या कहते है पर पसंद आया होगा। अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमसे comment करके जरूर पूछें हम आपको उसका जवाब जरूर देंगे। धन्यवाद!

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

निचे स्टार⭐ पर क्लिक कर के अपना रेटिंग दे!

इस पोस्ट की औसत रेटिंग है: 5 / 5. अभी तक कितना लोग वोट किये है: 31

अभी तक कोई वोट नहीं! सबसे पहले आप वोट कीजिये!

जैसा की आपको यह पोस्ट उपयोगी लगा...

सोशल मीडिया पर, हमारे दोस्त बनिए!

हमें बेहद खेद है की आपको यह पोस्ट पसंद नहीं आया!

इस पोस्ट को और भी बढ़िया बनाने में हमारी सहायता कीजिये!

हमें बताईये, हम इसे कैसे और बढ़िया बनाये!

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *